July 30, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

CM योगी ने मास्क के अनिवार्य उपयोग के लिए प्रवर्तन कार्यवाही को तेज करने के निर्देश

लखनऊ। डीवीएनए

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 के सम्बन्ध में शासन की गाइडलाइन्स का पालन सुनिश्चित कराने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि कोविड-19 के बचाव व उपचार के सम्बन्ध में प्रभावी व्यवस्था निरन्तर बनायी रखी जाए।
मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से बचाव के बारे में लोगों को निरन्तर जागरूक किया जाए। इसके लिए विभिन्न प्रचार माध्यमों के साथ-साथ पब्लिक एड्रेस सिस्टम का व्यापक उपयोग किया जाए। प्रमुख चैराहों, बाजारों एवं अन्य महत्वपूर्ण स्थानों पर पब्लिक एड्रेस सिस्टम के द्वारा लोगों को कोविड-19 से बचाव की जानकारी दी जाए। उन्होंने मास्क के अनिवार्य उपयोग के लिए प्रवर्तन कार्यवाही को तेज किये जाने के निर्देश दिए हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जनपद लखनऊ तथा मेरठ पर ध्यान देते हुए संक्रमण के प्रभावी नियंत्रण के लिए विशेष कार्ययोजना तैयार की जाए। उन्होंने कहा कि प्रत्येक जिलाधिकारी तथा मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा प्रतिदिन नियमित रूप से सुबह कोविड चिकित्सालय में तथा शाम को इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर में बैठक आहूत करते हुए कार्यों की समीक्षा की जाए और आगे की रणनीति बनायी जाए।
मुख्यमंत्री ने काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा सर्विलांस की व्यवस्था को सुदृढ़ बनाये रखने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सभी जनपदों में 15 दिसम्बर, 2020 तक कोविड-19 वैक्सीन की कोल्ड चेन के अवस्थापना सम्बन्धी समस्त कार्य पूर्ण कर लिये जाए। उन्होंने यह निर्देश भी दिए कि कोविड-19 से संक्रमित बुजुर्ग, श्वांस रोगी, गर्भवती महिला, कई बीमारियों से ग्रसित व्यक्तियों तथा छोटे बच्चों को होम आइसोलेशन अनुमन्य न किया जाए।
बैठक में स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह, मुख्य सचिव आर0के0 तिवारी, कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ0 रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी, अपर मुख्य सचिव पंचायतीराज एवं ग्राम्य विकास मनोज कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव औद्योगिक विकास आलोक कुमार, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य आलोक कुमार, राहत आयुक्त संजय गोयल, सचिव मुख्यमंत्री आलोक कुमार, सूचना निदेशक श्री शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।