May 11, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

पत्रकार राकेश सिंह के हत्यारों को फांसी की सजा दी जाएं: सेराज अहमद कुरैशी

गोरखपुर डीवीएनए। इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सेराज अहमद कुरैशी के नेतृत्व में पत्रकारों का एक प्रतिनिधि मंडल जिलाधिकारी गोरखपुर की अनुपस्थिति में मुख्य प्रशासनिक अधिकारी से मिलकर बलरामपुर में पत्रकार राकेश सिंह व उनके साथी की जलाकर निर्मम हत्या के विरोध में मुख्यमंत्री को संबोधित ज्ञापन सौंपा।
उत्तर प्रदेश के बलरामपुर कोतवाली थाना क्षेत्र के कलवारी गांव में रहने वाले राष्ट्रीय स्वरूप हिन्दी दैनिक व यूट्यूब चैनल के पत्रकार राकेश सिंह (35 वर्ष ) अपने किराये के घर में सो रहे थे,इस दौरान कमरे में दूसरे बिस्तर पर राकेश सिंह के साथी पिन्टू साहू सो रहे थे। अचानक रात में तेज धमाका हुआ। घर के दाएँ तरफ की दीवार गिर गयी। जिससे दीवार गिरने की आवाज से ग्रामीणों को घटना की जानकारी हुई। आग इतनी भीषण थी कि घर के अंदर सो रहे राकेश सिंह और साथी पिन्टू साहू बुरी तरह से झुलस गए और सारा सामान जल गया। दोनों को अस्पताल पहुंचाया गया। जहां डाक्टरों ने पिन्टू को मृत घोषित कर दिया जबकि 90ः झुलसे राकेश को लखनऊ रेफर कर दिया। जहां इलाज के दौरान उनकी मृत्यु हो गई। झुलसने के बाद अस्पताल पहुंचे पत्रकार राकेश सिंह ने अपने आखिरी बयान में कहा कि रात को घर में दस से पंद्रह लोग घुस गए थे, उन्होंने ने ही घटना को अंजाम दिया है। हादसे से पहले अनहोनी की आशंका पर पत्रकार ने पूर्व प्रधान व उसके साथियों पर जलाकर मारने की धमकी का विडियो वायरल भी किया था।
पत्रकार राकेश सिंह की हत्या को लेकर पत्रकारों में लगातार रोष बढ़ता जा रहा है। इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सेराज अहमद कुरैशी ने कहा ने मुख्यमंत्री से यह मांग की है कि दिवंगत पत्रकार राकेश सिंह की जलाकर निर्मम हत्या मे शामिल दोषियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाएं। मुख्य अभियुक्त को फांसी की सजा दी जाएं। पत्रकार की हत्या की निष्पक्ष जांच सीबीसीआईडी से करायी जाएं।
श्री कुरैशी ने आगे कहा कि पत्रकार के परिवार को 50 लाख रूपया आर्थिक सहायता के साथ-साथ परिवार में एक सदस्य को सरकारी नौकरी और सुरक्षा प्रदान की जाएं।
जिला अध्यक्ष सुरेन्द्र कुमार सिंह ने कहा कि आये दिन हो रहे पत्रकारों पर हमले से पत्रकारों में असुरक्षा की भावना पैदा हो रही है।सरकार को पत्रकारों की सुरक्षा को लेकर एक ठोस कानून बनाने की आवश्यकता है।आज पत्रकार तमाम दुश्वारियों को झेलते हुए,जान जोखिम में डालकर खबर संकलन करता है,बावजूद इसके इनकी सुरक्षा की गारंटी नही है। पत्रकारों की सुरक्षा के लिए उत्तर प्रदेश सरकार पत्रकार सुरक्षा कानून शीघ्र लागू करें।
इस अवसर पर राष्ट्रीय अध्यक्ष सेराज अहमद कुरैशी, जिला अध्यक्ष गोरखपुर सुरेन्द्र कुमार सिंह, रफी अहमद, मो. इस्माईल,विवेक कुमार श्रीवास्तव, सुनील उपाध्याय, सरदार गुरमीत सिंह, नवेद आलम, सुनील उपाध्याय, संजय यादव, इरफानुल्लाह खान, मो. कैफ, अवनीश त्रिपाठी, ख्वाजा जियाउद्दीन, मोहम्मद आजम, विजय मोदनवाल, जाकिर अली, डाॅ. शकील अहमद, सतीश मणि त्रिपाठी, अंशुल वर्मा, डाॅ. अतीक अहमद, मोईन सिद्दीकी, मेराज अहमद, परवेज अख्तर, अवधेश श्रीवास्तव, सूरज कुमार, सतीश चन्द, वजीहउद्दीन, मो. अहमद खान, मुदस्सिर हुसैन, मोहम्मद आजाद, रामकृष्ण शरण मणि त्रिपाठी आदि पत्रकार गण उपस्थित रहें।