June 14, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

किसानों के समर्थन में उतरे शिक्षाविद आरके श्रीवास्तव, बोले- किसान हैं देश के रीढ की हड्डी

नई दिल्ली। डीवीएनए
कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में उतरे शिक्षाविद आरके श्रीवास्तव, पहलवान बजरंग पूनिया, महिला पहलवान विनेश फोगाट समेत कई मशहूर हस्ती किसानों के आंदोलन को लेकर कर रहे ट्वीट।

कृषि कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों को आम लोगों के साथ जानी-मानी शख्सियतों का समर्थन मिल रहा है ।मशहूर शिक्षाविद आरके श्रीवास्तव भी लगातार किसानों का समर्थन करते हुए सरकार पर सवाल उठा रहे हैं। किसान आंदोलन को लेकर आरके श्रीवास्तव ने ट्वीट के जरिये अपनी बात रखी है।

आरके श्रीवास्तव ने ट्वीट किया कि किसान देश की रीढ़ की हड्डी हैं – किसानों को मत रोकिये। देश के अनदाता को अपनी बात रखने का संवैधानिक अधिकार है।बल प्रयोग से कभी किसी की आवाज को नहीं दबाया जा सकता।सड़क पर उतरे किसानों की बात को सरकार सुने। किसानो को भी सरकार से मिलकर इसका हल निकालना चाहिये। वहीं महिला पहलवान विनेश फोगाट ने इस मुद्दे पर कहा जय जवान, जय किसान इन्हीं के दम पर ही तो है सारा हिंदुस्तान, विनेश ने किसान आंदोलन के साथ होने की बात लिखकर टैग किया है। उधर क्रिकेटर युवराज सिंह के पिता योगराज सिंह भी सिंघु बॉर्डर पर किसानों के धरने के बीच पहुंचे।

कौन है आरके श्रीवास्तव
बिहार के रोहतास जिले के रहने वाले आरके श्रीवास्तव देश मे मैथेमैटिक्स गुरू के नाम से मशहूर है । चुटकुले सुनाकर खेल खेल में जादूई तरीके से गणित पढाने का तरीका लाजवाब है। कबाड़ की जुगाड़ से प्रैक्टिकल कर गणित सिखाते हैं। सिर्फ 1 रुपया गुरु दक्षिणा लेकर स्टूडेंट्स को पढाते हैं, सैकङों आर्थिक रूप से गरीब स्टूडेंट्स को आईआईटी,एनआईटी, बीसीईसीई सहित देश के प्रतिष्ठित संस्थानो मे पहुँचाकर उनके सपने को पंख लगा चुके हैं। वर्ल्ड बुक ऑफ रिकॉर्डस और इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड मे भी आरके श्रीवास्तव का नाम दर्ज है।
रास्ट्रपति रामनाथ कोविंद भी कर चुके है आर के श्रीवास्तव के शैक्षणिक कार्य शैली की प्रशंसा। इनके द्वारा चलाया जा रहा नाइट क्लासेज अभियान अद्भुत, अकल्पनीय है। स्टूडेंट्स को सेल्फ स्टडी के प्रति जागरूक करने लिये 450 क्लास से अधिक बार पूरे रात लगातार 12 घंटे गणित पढा चुके है। सैकङों से अधिक बार इनके शैक्षणिक कार्यशैली की खबरे देश के सारे प्रतिष्ठित अखबारों में छप चुके हैं, विश्व प्रसिद्ध गूगल ब्वाय कौटिल्य के गुरु के रूप मे भी देश इन्हें जानता है।

आरके श्रीवास्तव होने का मतलब- कड़ी मेहनत , उच्ची सोच एवं पक्का ईरादा

आर्थिक रूप से गरीब स्टूडेंट्स के सपनो को पंख देने वाले का नाम है आरके श्रीवास्तव । आरके श्रीवास्तव अब लाखों युवाओं के राॅल मॉडल बन चुके हैं। बिहार के ये शिक्षक ने अपने कड़ी मेहनत, पक्का इरादा और उच्ची सोच के दम पर ही शीर्ष स्थान को प्राप्त कर लिया है। देश के टॉप 10 शिक्षको में भी बिहारी शिक्षक का नाम आ चूका है। ये गणित के शिक्षक है, परन्तु इनके शैक्षणिक कार्यशैली एक दशको से चर्चा का बिषय बना हुआ है। बिहार सहित आज पूरे देश की दुआएं आरके श्रीवास्तव को मिलता हैं । विदेशो में भी इन बिहारी शिक्षकों के पढाने के तरीको को भरपूर पसंद किए जाते हैं। उन सभी देशों में भी इनके शैक्षणिक कार्यशैली को पसंद किए जाते हैं, जहां पर भारतीय मूल के लोग बसे हुए हैं।