June 13, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

कासगंज पुलिस को मिली बड़ी सफलता

कासगंज, (डीवीएनए ) वादी राजबहादुर नि0 शान्तापुरी थाना कोतवाली जनपद कासगंज द्वारा उपस्थित थाना हाजा आकर एक लिखित तहरीर प्रस्तुत कर अवगत कराया कि उनके पुत्र सुनील का अभियुक्तगण मुनखिर दयाल मिश्रा, शैलेन्द्र, तिलक सिह,सन्तोष द्वारा अपहरण कर लिया गया है । उक्त सम्बन्ध में थाना कोतवाली कासगंज पर अभियोग संख्या 61/ धारा 364/506 भादवि बनाम उपरोक्त अभियुक्तगण के पंजीकृत कर विवेचना प्रारम्भ की गई ।

विवेचना में साक्ष्य न पाये जाने पर विवेचक द्वारा अभियोग में अन्तिम रिपोर्ट माननीय न्यायालय में प्रेषित कर दी गई थी । तत्पश्चात वादी राजबहादुर द्वारा माननीय न्यायालय में हैवियस कार्पस रिट दाखिल की गई जिसमें पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाते हुए आरोप लगाया गया कि मेरे पुत्र के गायब रहने पर कासगंज पुलिस द्वारा उचित कार्यवाही नहीं की गई । इस सम्बन्ध में माननीय न्यायालय द्वारा पुलिस अधीक्षक कासगंज मनोज कुमार नकर को दिनांक 07.01.2021 को अपना जवाब दाखिल करने के निर्देश दिये गये थे । पुलिस अधीक्षक कासगंज मनोज कुमार सोनकर द्वारा माननीय न्यायालय के निर्देशों के अनुपालन में त्वरित कार्यवाही करते हुए अन्तर्गत धारा 173(8) में पुनर्विवेचना करने के आदेश पारित किये गये थे इन्हीं निर्देशों के अनुपालन में पुलिस अधीक्षक कासगंज द्वारा अपह्रत की बरामदगी हेतु क्षेत्राधिकारी नगर श्री आर0के0 तिवारी के नेतृत्व में एस0ओ0जी0, सर्विलांस, एवं, स्थानीय पुलिस की 3 टीमें गठित की गई । गठित पुलिस टीमों का पर्यवेक्षण निरन्तर पुलिस अधीक्षक कासगंज द्वारा स्वयं किया जा रहा था । गठित पुलिस टीमों की संयुक्त कार्यवाही एवं गहनता से की गई पतारसी सुरागरसी के फलस्वरूप आज दिनांक 03.01.2021 को फरार चल रहे अभियुक्त सुनील उपरोक्त को गिरफ्तार करने में सफलता प्राप्त की गई है । गिरफ्तार अभियुक्त सुनील द्वारा पूछताछ के दौरान बताया गया कि मेरे पिता एवं मैने योजनाबद्ध तरीके से मेरे अपहरण का झूठा अभियोग कोतवाली कासगंज में पंजीकृत कराया था तथा लोगो की देन दारी तथा अपने ऊपर दर्ज मुकदमो मे गिरफ्तारी से बचने के लिये मै सोनीपत भाग गया था । मुझे तलाश करने पुलिस गयी थी तो मै दिल्ली (आनन्द विहार) में भाग कर मजदूरी करने लगा था तब से मै आनन्द विहार में ही रह रहा था । मै लगातार अपने परिवार के संपर्क मे था उन्हे मेरे बारे मे पूरी जानकारी थी ।
गिरफ्तार अभियुक्त से पूछताछ करने पर संज्ञान में आया कि अभियुक्त सुनील उपरोक्त.मु0अ0सं0 75/15 धारा420/406/323/504/506 भादवि 2.मु0अ0सं0 90/15 धारा 420/406/504/506 भादवि 3. मु0अ0सं0 112/15 धारा 406/420/506 भादवि 4. मु0अ0सं0 116/15 धारा420/406/504/506 भादवि थाना कोतवाली जनपद कासगंज में वांछित चल रहा था । तथा अभियुक्त द्वारा आम जन के लोगों से काफी पैसा ठगी के रूप में लिया हुआ था । इन्ही कारणों की वजह से अभियुक्त सुनील स्वयं घर से फरार चल रहा था एवं पुलिस पर दबाव बनाने व ध्यान भटकाने एवं गुमराह करने के उद्देश्य से अपने पिता के साथ मिलकर अपने अपहरण की साजिश रच अपहरण का अभियोग पंजीकृत कराया गया था । उक्त अभियुक्त की गिरफ्तारी से कासगंज पुलिस ने एक बडी साजिश का भण्डाफोड किया गया है ।
कासगंज पुलिस द्वारा किये गये इस सराहनीय कार्य की जनता द्वारा भूरि – भूरि प्रशंसा की जा रही है । पुलिस अधीक्षक कासगंज श्री मनोज कुमार सोनकर द्वारा सराहनीय कार्य करने वाली पुलिस टीम को 10 हजार रूपये के पुरुस्कार से पुरुस्कृत करने एवं आगामी गणतन्त्र दिवस के अवसर पर सम्मानित करने की घोषणा की गई है ।
संवाद , नूरुल इस्लाम