June 20, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

भाजपा कार्यकर्ताओं के उत्पीड़न मामले में भाजपाइयों ने किया कोतवाली का घेराव

कासगंज/पटियाली डीवीएनए। पार्टी कार्यकर्ताओं के साथ हुईं घटनाओं में पुलिस की अनदेखी से भाजपाई आक्रोशित हो उठे। कासगंज कोतवाली व पटियाली थाना में भाजपाइयों ने घेराव कर धरना व प्रदर्शन कर पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठाए। आरोपियों से मिलीभगत करने का आरोप लगाया। अधिकारियों के हस्तक्षेप और उचित कार्रवाई के आश्वासन के बाद ही भाजपाई धरना प्रदर्शन से उठे।
यह था कासगंज का प्रकरण
कासगंज। कासगंज कोतवाली परिसर में धरना प्रदर्शन में मौजूद भाजपा जिला उपाध्यक्ष सुरेश माहेश्वरी ने बताया कि गत 14 दिसंबर को नामजद लोग लाठी डंडा और तमंचा लेकर पार्टी कार्यकर्ता मोहल्ला जयजयराम निवासी यतेन्द्र गौतम के घर में घुस गये। यतेंद्र के पिता राकेश और उनके चाचा से मारपीट व लूटपाट की। बाद में तमंचा से फायर कर फरार हो गए। आरोप था कि पुलिस ने आरोपी को तमंचा समेत पकड़ लिया, लेकिन दो दिन बाद छोड़ दिया। जिससे आरोपी ने दुबारा पीडित को डराया धमकाया। इसस पर पार्टी पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं ने कोतवाली में धरना प्रदर्शन किया। धरना की जानकारी पर पहुंचे सीओ आरके तिवारी ने के समझाने बुझाने और उचित कार्रवाई के आश्वासन पर भाजपाइयों ने धरना प्रदर्शन समाप्त कर दिया।

पटियाली में यह हुई भाजपा कार्यकर्ता के साथ घटना
पटियाली। कस्बा के अलीगंज रोड पर शुक्रवार की शाम सपा नेता जिला पंचायत सदस्य उर्वेश व भाजपा नेता अरविंद के बीच झगड़ा हुआ। दोनों पक्ष रात को थाना पहुंच गए। एसडीएम शिवकुमार सिंह, सीओ गवेन्द्रपाल गौतम एवं इंस्पेक्टर वीरेंद्र सिंह इंदौलिया ने दोनों पक्षों की सहमति पर समझौता करा दिया। कुछ देर बाद देर रात घायल अवस्था में थाने पहुंचे भाजपा बूथ अध्यक्ष ग्राम परतापुर निवासी अरविंद ने पुलिस को जानकारी देते हुए बताया कि वह अपने गांव जा रहा था, तभी रास्ते में उर्वेश व पांच अन्य लोगों ने उसे घेरकर मारा पीटा। शनिवार को भाजपा जिलाध्यक्ष केपी सिंह अपने कार्यकर्ताओं के साथ थाने पहुंचे और कार्रवाई की मांग की। पुलिस की अनदेखी पर थाना का घेराव कर प्रदर्शन शुरु कर दिया। इसके बाद पुलिस ने अरविंद की तहरीर पर मामले में रिपोर्ट दर्ज कर ली।
संवाद नूरुल इस्लाम