June 17, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

पत्रकार के साथ अभद्रता मामले में जिम्मेदार अधिकारी मौन

सुलतानपुर (डीवीएनए)। प्रदेश की योगी सरकार में आमजन को न्याय दिलाने वाले पत्रकार भी सुरक्षित नहीं है। गत दिनों तहसील मुख्यालय बल्दीराय में एक चैनल के पत्रकार के साथ तहसील कर्मियों ने जो कृत्य किया वह वास्तव में निंदनीय है।
पत्रकार के साथ अभद्रता करने का मामला अब तूल पकड़ रहा है पत्रकार के द्वारा बार-बार उप जिलाधिकारी राजेश सिंह को प्रार्थना पत्र दिए जाने के बावजूद भी अभी तक कोई कार्यवाही नहीं की गई। उप जिला अधिकारी की भूमिका भी संदेह के घेरे में है बताते चले कि तहसील बल्दीराय के ग्राम पुरे काली पांडे मझवारा निवासी दिलीप कुमार मिश्र एक चैनल के स्थानीय पत्रकार हैं। जिनका मुकदमा स्थानीय तहसील के तहसीलदार के कोर्ट में चल रहा है गत दिवस पत्रकार श्री मिश्र मुकदमा में नकल सवाल लेने के लिए प्रार्थना पत्र दिया था। पेशकार के बुलाने पर जब श्री मिश्र नकल सवाल लेने गए तो पेशकार इकराम द्वारा उनसे ?1000 की मांग की गई ना देने पर पत्रकार के साथ कई तहसील कर्मियों ने अभद्रता की एवं मारपीट की यही नहीं तहसील के अमीन शिव प्रसाद ने कई कर्मियों के साथ पत्रकार को बंधक बना लिया और कई घंटों तक तहसीलदार के कोर्ट के सामने जमीन पर बैठाए रखा बावजूद इसके तहसील के प्रबुद्ध वर्ग के लोगों के हस्तक्षेप के बाद पत्रकार को छोड़ा गया। पत्रकार ने इसकी शिकायत तत्काल उप जिलाधिकारी बल्दीराय व तहसीलदार बल्दीराय से की। लेकिन इन शीर्ष अधिकारियों न उल्ट पत्रकार को ही डांट कर भगा दिया।
पत्रकार ने बताया कि इस मामले में कई बार प्रार्थना पत्र दिया गया लेकिन कोई कार्यवाही नहीं की गई। पत्रकार दिलीप कुमार मिश्रा ने इसकी शिकायत राजस्व परिषद अध्यक्ष उत्तर प्रदेश, मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सहित कई प्रशासनिक एवं शासन स्तर के कई अधिकारियों के पास भेज कर कार्यवाही किए जाने की मांग की है।
इस समय बल्दीराय तहसील मुख्यालय भ्रष्टाचार का अड्डा बन चुका है जरा से कार्य करवाने के लिए भी वादी को पेशकार सहित कई तहसील कर्मियों को नजराना देना पड़ रहा है ना देने पर उनके साथ बदसलूकी की जाती है। शिकायत करने के बाद भी उप जिलाधिकारी कोई कार्यवाही नहीं करते ऐसा ही कई मामला देखने को मिला है। इस बाबत उप जिलाधिकारी बल्दीराय राजेश सिंह ने बताया कि मामला संज्ञान में है जांच की जा रही है, जांच के बाद आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।