January 25, 2022

DVNA

Digital Varta News Agency

पेयजल लाइन के खुदाई कार्य से ग्रामीणों में रोष, जल निगम पर लगाये आरोप

कुशीनगर। (डीवीएनए)सरकार के द्वारा करोडो करोडो का बजट खर्च करके गांवों मे पक्की सडके व इंटरलाकिंग बनवाये गए हैं। लेकिन जल निगम विभाग गांवों मे जल अपूर्ति देने हेतू मनमानी तरीके से गांवों मे पक्की सडको के किनारे गड्ढा खोद रहा है तो कई जगह पक्की सडक ही तोडकर पाइप डाल रहा है और ऐसे ही खानापूर्ति कर दे रहा है।
 इलाके मे तो जल निगम के बनी ओवरहैंड टैंक से पानी की कोई सप्लाई शूरु नही हुई लेकिन जलनिगम के द्वारा तोडी गई सडके दुर्घटना का सबब बन गई है। विशुनपुरा ब्लाक के खुजरिया,पुरन्दर छपरा,सिहोरवा टोला,पिपरा,मुडमुडवा, चौरी टोला पटेरा खुर्द सहित आदि गांवों मे जल निगम विभाग द्वारा जल अपुर्ति के नाम पर पक्की सडक,इंटलाकिंग व खंडजा तोडकर पाइप डाला गया है।

लेकिन अधिकांश जगहो पर सडको के किनारे व बीस सडको मे खोदे गए गड्ढो को पाटा नही गया है।कई जगह पक्की सडके तोड दी गई है।जिसके कारण आम लोगो कोअब इन राहो पर चलना जान जोखिम भरा हो गया है।
कई जगह तो रोड के किनारे खोदे गए गड्ढो मे ठीक से न पाटने के कारण गाडियां फस जा रही है तो कई जगह जहां रोड तोडकर पाइप डाला गया है।
 और पुन: रोड नही बनाए गए हैं वहां दुर्घटनाए हो गई है। मनमाने तरीके से ठीकेदार पाइप डलवा दिये है लेकिन गड्ढा पाटने और जो पक्की सडके पाइप डालने के नाम पर तोडी गई हैं उसका जिमवार कौन है और उसे कौन बनाएगा इसका का पता किसी को नही है। सडक टूटने से करोडो की बनी सडके बर्बाद हो जाएगी। 
जटहां बाजार खजुरिया गांव के राजकुमार पांडेय का कहना है कि सडक के किनारे जल निगम के ठीकेदारो ने गड्ढा खोद दिया है। आने वाले बरसात मे उसमे पानी लगेगा जिससे सडक पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो जाएगा। वही जलपूर्ति के समय लोगो को गंदा पानी मिलेगा।
जहां एक तरफ करोडो की बनी सडके बर्बाद होगीं वहीं आम लोगो को स्वच्छ पानी के वजाय गंदा पानी सप्लाई होगा इस लिए जिम्मेदार इसपर ध्यान दें। पुरन्दर छपरा टोला निवासी असलम अंसारी का कहना है कि सरकार की मंसा आमजन को स्वच्छ पानी देना है।
लेकिन जल निगम के ठीकेदार मनमाना करके इस योजना को ही ध्वस्त करने मे लगे हैं।गड्ढा खोदकर जो पाइप डाला गया है उसकी भराई सही तरीके से नही है जिसके कारण बरसात मे जलजमाव होगा और रिसाव के द्वारा बरसात का पानी पे माध्यम से लोगो के घर पहुचेगा।

 पिपरा गांव निवासी  राजू जायसवाल का कहना है कि सरकार आम लोगो को स्वच्छ पानी देने के नियत से स्वच्छ पेयजल योजना चलाई लेकिन जिम्मेदारो के मनमाने से और सही ढंग से पाइप न लगने के कारण यह योजना विफल होगा। मुडमुडवा टोला निवासी बालदेव का कहना है।
 कि स्वच्छ पेय योजना के अन्तर्गत गांवों मे शुद्ध पानी सप्लाई देने के लिए सरकार ने करोडो रुपये खर्च करके एक एक ओभरहैंड टैंक बनवा रही है लेकिन विभागिय उदासीनता व ठीकेदारो की मनमानी से सरकार का मंसा सफल नही होगा न ही लोगो को शूद्ध पानी इस योजना के अन्तर्गत मुहैया हो पाएगा।
कुशीनगर अधिशासी अभियंता लोग निर्माण हमराज सिंह का कहना है कि जल निगम वाले मनमाना करके गांव मे बनी पक्की सडको को तोडकर पाइप डाल रहे है। यह उनकी जिम्मेदारी है कि जहां वे सडके तोड रहे हैं।
उसे वह ठीक करायें।विभाग द्वारा कई बार उनको टुटी सडको को ठीक कराने के लिए कहा गया है लेकिन वह मान नही रहे हैं।पाइप डालने के नाम पर सडक तोड दे रहे है और उसे ठीक नही कर रहे है यह अनियमितता है।

संवाद:- रविन्द्र नाथ विश्वकर्मा