September 18, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

किसान को बेचे गए धान का एमएसपी उनके खाते में किया जा रहा हस्तान्तरित: संजय प्रसाद

लखनऊ डीवीएनए।
उत्तर प्रदेश के प्रमुख सचिव सूचना संजय प्रसाद ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि मा0 प्रधानमंत्री जी द्वारा आज न्यू खुर्जा से न्यू भाऊपुर खण्ड (351 किमी0) फ्रेट कोरिडोर का लोकार्पण किया गया हैंै। कार्यक्रम में प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी के वर्चुअल रूप से प्रतिभाग कर रहे थे। मुख्यमंत्री जी ने फ्रेट कोरिडोर को प्रदेश के लिए बड़ा उपहार बताते हुए प्रधानमंत्री जी का आभार प्रकट किया। फ्रेट कोरिडोर का लगभग 75 प्रतिशत हिस्सा उत्तर प्रदेश से गुजरता है। मा0 मुख्यमंत्री जी ने कहा कि फ्रेट कोरिडोर के पूरी तरह से संचालित हो जाने के बाद प्रदेश में विकास एवं औद्योगिकरण को एक नयी गति मिलेगी। प्रदेश के कृषि, उद्योग, व्यापार आदि के लिए यह कोरिडोर मील का पत्थर साबित होगा। उत्तर प्रदेश के उत्पाद देश-विदेश तक आसानी से पहुंच जायेंगे। मुख्यमंत्री जी ने यह उम्मीद जतायी है कि फ्रेट कोरिडोर उत्तर प्रदेश में विकास के नये रास्ते खुलेंगे।
श्री प्रसाद ने बताया कि मा0 मुख्यमंत्री जी द्वारा 87 करोड़ रूपये की प्रथम किश्त आज 21,562 लाभार्थियों को मुख्यमंत्री आवास योजना के धनराशि खातों में हस्तान्तरित की गयी। इस योजना के अन्तर्गत 2011 के सोशियो इकोनाॅमिक सर्वे में पात्र लाभार्थी जो छूट गये थे और उसमें जो बिल्कुल विकास के अन्तिम पायदान पर थे। 75,000 परिवारों को इस योजना के माध्यम से लाभान्वित हो चुके है। निसहाय, बेसहारा एवं वंचित लोग है उनकों मा0 मुख्यमंत्री जी की महत्वाकांक्षी योजना के माध्यम से पक्के आवास उपलब्ध कराये जा रहे है। इस तरह प्रदेश सरकार का संकल्प है कि निसहाय एवं बेसहारा लोग है जिनके पास आवास नहीं है, उनको योजना के माध्यम से पक्के आवास देकर उनके जीवनभर के सपने को पूरा किया जा रहा है।
श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश के वरिष्ठ अधिकारियों को प्रदेश के मुख्यमंत्री के निर्देश पर नोडल अधिकारियों के रूप में धान क्रय केन्द्र, गन्ना क्रय केन्द्र, निराश्रित गौ आश्रय स्थल, कोविड से जुड़ी तैयारियां सहित अन्य समस्याओं का मौके पर मुआयना किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि लगभग 150 से अधिक वरिष्ठ अधिकारियों अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव तथा वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों द्वारा भ्रमण किया जा रहा है। मा0 मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर प्रदेश के सभी मा0 मंत्रियों के द्वारा भी 20 से 25 दिसम्बर, 2020 के मध्य अपने प्रभार के जनपदों के दौरे पर थें। वहां पर उन्होंने जितने भी महत्वपूर्ण सरकार के कार्यक्रम चल रहे हैं। जिनमें प्रमुख रूप से कोविड-19 नियंत्रण की तैयारियां, धान क्रय, गन्ना क्रय, निराश्रित गौ वंश के लिए जो व्यवस्था की है। गरीब लोगांे के लिए रैन बसेरा, राहत सामग्री आदि का मौके पर मुआयना किया था और उसका फीड बैक मा0 मुख्यमंत्री जी को दिया था। उन्होंने बताया कि आज नोडल अधिकारियों द्वारा निरीक्षण के उपरांत आज शाम तक अपना फीड बैक देंगे। इसके बाद मा0 मुख्यमंत्री जी के स्तर पर समीक्षा की जायेगी और अगर कही पर कोई कमी पायी जाती है उसके लिए कार्ययोजना बनाकर समुचित निराकरण के उपाय किये जायेंगे।
श्री प्रसाद ने बताया कि माघ मेला, प्रयागराज तथा मथुरा में आयोजित होने वाले संत समागम की व्यवस्थाओं के संबध में समीक्षा की है और स्पष्ट निर्देश दिये है कि कोविड प्रोटोकाॅल का पालन करते हुए चाकचैबध्ंा व्यवस्था की जाए और यह सुनिश्चित किया जाए कि किसी भी प्रकार से श्रद्धालुओं को कोई असुविधा न हो। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा धान एवं मक्का क्रय पर निरन्तर बल दिया जा रहा है। प्रदेश सरकार द्वारा अब तक 474.01 लाख कु0 धान की खरीद की जा चुकी है और इसी प्रकार अब तक 7,56,349.10 कु0 मक्का की खरीद की जा चुकी है। यह खरीद आगे भी जारी रहेगी। किसान अपने धान को क्रय केन्द्रों पर जाकर बेच सकते है। किसान को बेचे गये धान का न्यूनतम समर्थन मूल्य उनके खाते में हस्तान्तरित किया जा रहा है। इसी प्रकार गन्ना क्रय केन्द्रों पर भी लगातार गन्ना किसानों को भुगतान किया जा रहा है। सभी चीनी मिले संचालित है।
श्री प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में संक्रमण कम हो रहा है। प्रदेश में कन्टेनमेंट जोन व हाटस्पाॅट क्षेत्र की संख्या में भी निरन्तर गिरावट आ रही है। मा0 मुख्यमंत्री जी ने कोरोना के नये स्ट्रैन जांच के संबंध में व्यापक निर्देश स्वास्थ्य विभाग व अन्य संबंधित विभागों को दिये हैं। जिलों में वैक्सीनेशन का कार्य प्रारम्भ किये जाने को अन्तिम रूप दिया जा रहा है। मा0 मुख्यमंत्री जी ने कहा है कि कोविड संक्रमण कम करने के लिए प्रयागराज, वाराणसी तथा लखनऊ में विशेष ध्यान देने पर बल दिया है। कान्टेक्ट ट्रेसिंग के माध्यम से कोविड-19 के संक्रमण के केसों में कमी लाने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि मा0 मुख्यमंत्री के निर्देश पर प्रदेश में वरासत अभियान चलाया जा रहा है। जिसमें प्राप्त होने वाले आवेदन पत्रों का प्राथमिकता से निस्तारण कराया जा रहा है। इस अभियान में जितने भी लम्बित प्रकरण थे, उनको इस अभियान के दौरान निस्तारण कराया जायेगा।
प्रमुख सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य आलोक कुमार ने बताया कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,32,471 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 2,36,40,902 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 1021 नये मामले आये हैं। प्रदेश में 14,344 कोरोना के एक्टिव मामले में संे 6,336 लोग होम आइसोलेशन में हैं। उन्होंने बताया कि अब तक कुल 5,61,257 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। प्रदेश में कोविड-19 का रिकवरी प्रतिशत 96 है। प्रदेश में ई-संजीवनी के माध्यम से 24 घंटे में 3395 लोगों ने चिकित्सीय परामर्श लिया है। अब तक 3,08,585 लोगों ने चिकित्सीय परामर्श लिया है। उन्हांेने बताया कि पिछले वर्ष 01 नवम्बर से 29 दिसम्बर, 2019 तक 46,471 मेजर सर्जरी की गयी है, इसी अवधि में इस वर्ष 01 नवम्बर से 29 दिसम्बर, 2020 तक 43,315 मेजर सर्जरी की गयी है। उन्होंने बताया कि सरकारी चिकित्सालयों में कुल 5,502 का प्रसव हुआ है, जिसमें 5,359 नाॅर्मल डिलीवरी व 143 सिजेरियन डिलीवरी हुई।
श्री कुमार ने बताया कि यू0के0 से आने वाले लोगों से सम्पर्क किया जा रहा हैं। सम्पर्क मंे आने पर कोविड-19 की जांच करायी जा रही है। अब तक 10 लोगों की रिपोर्ट पाॅजिटिव आयी है उनकी जिनोम सीक्वेंसिंग सैम्पल करायी जा रही है। सभी लोगों से अपील है कि मास्क पहनें, हाथ साबुन-पानी से धोते रहें तथा लोगों से दो गज की दूरी बनाये रखें। जब तक वैक्सीन नहीं आती तब तक पहले से बीमार बुजुर्गों, बच्चों, गर्भवती महिलाओं को संक्रमण से बचाना होगा।