September 29, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

क्या त्रिकोणीय होगा इस बार आगामी विधानसभा चुनाव

उधमसिंह नगर (डीवीएनए)। उत्तराखंड में विधानसभा चुनाव अभी दूर है लेकिन उत्तराखंड में आने वाले विधानसभा चुनाव की सियासी बिसात बिछ चुकी है। वही दो पार्टियों के चुनावी युद्ध के बीच इस बार आम आदमी पार्टी ने भी चुनावी युद्ध लड़ने के लिए बिगुल बजा दिया। तो देवभूमि का विधानसभा चुनावी युद्ध त्रिकोणीय होते हुए दिखाई दे रहा है।
उत्तराखंड की स्थापना होने के बाद उत्तराखंड के विधानसभा चुनाव में हमेशा कांग्रेस और भाजपा के बीच युद्ध देखने को मिलता है कभी सत्ता कांग्रेस के पास जाती है तो कभी भाजपा के पास लेकिन इस बार उत्तराखंड के विधानसभा चुनाव के समीकरण कुछ और बनते हुए दिखाई दे रहे हैं, आम आदमी पार्टी ने उत्तराखंड में 70 की 70 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने का बिगुल बजा दिया है। देवों की नगरी में दो पार्टियों में होने वाले युद्ध को इस बार त्रिकोणीय बना दिया है। तो इस बार 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव दिलचस्प होगा।
कांग्रेस हो, या भाजपा हो, या आम आदमी पार्टी, तीनों ही पार्टी के पदाधिकारी नेता उत्तराखंड में अपनी सरकार बनाने का समीकरण लगाए बैठे हैं। कांग्रेसी और आम आदमी पार्टी अपना मुकाबला भारतीय जनता पार्टी से बता रहे है। और भारतीय जनता पार्टी के नेता अपना मुकाबला किसी से ना बताते हुए सत्ता हासिल करने की बात कर रहे हैं। फिलहाल कांग्रेस को दोनों पार्टियां मुकाबले से बाहर देख रही हैं।
आम आदमी पार्टी के नेता दीपावली का कहना है। 2022 के चुनाव में कांग्रेस कहीं भी दिखाई नहीं देगी आम आदमी पार्टी का सीधा मुकाबला भारतीय जनता पार्टी से होगा और हम लोग 2022 का चुनाव जीतकर जनता के जनादेश पर जनता के लिए जनता की सरकार बनाएंगे।
भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश मंत्री आशीष गुप्ता का कहना है की भारतीय जनता पार्टी 57 विधायकों के साथ प्रचंड बहुमत से सत्त में है। और इस बार 2022 में 60 प्लस सीटें लाने का हमारा लक्ष्य है तो वहीं प्रदेश मंत्री आशीष गुप्ता ने बताया कि कॉन्ग्रेस आपसी मत में अपना संगठन खो चुकी है। और विपक्ष की भूमिका में कुछ छोटी मोटी पार्टियां उत्तराखंड में अपने पैर जमाने की कोशिश कर रही हैं। लेकिन इस देवभूमि में देशभक्त सैनिक रहते हैं । उस देवभूमि पर टुकड़े टुकड़े गैंग के समर्थन करने वाली पार्टी के पैर तक जमने नहीं देंगे।
तो वहीं कांग्रेस नेत्री मुक्क्त सिंह का कहना है। उत्तराखंड में एक बार कांग्रेस और एक बार भाजपा सत्ता में रहती है यही चलता आ रहा है और और भाजपा से वैसे भी जनता परेशान है। और आम आदमी पार्टी उत्तराखंड में अभी पूरी तरीके से अपनी सरकार नहीं बना सकती तो इसलिए जनता आम आदमी पार्टी को वोट नहीं देगी तो अल्टीमेटली ही जनता पर ऑप्शंस मात्र कांग्रेसी बचता है।
संवाद अजहर मलिक