September 20, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

अब विभागों के नहीं काटने पड़ेंगे चक्कर, मनरेगा की मज़दूरी अब SMS या व्हाट्सएप पर

औरैया।(डीवीएनए) मनरेगा के तहत कार्यों के आवंटन में पारदर्शिता लाने के लिए सरकार ने एक अनूठी पहल शुरू की है । इसके तहत अब काम पाने के लिए न तो विभागों के चक्कर काटने पड़ेंगे और न ही किसी की जी हुजूरी करनी पड़ेगी । 
ग्राम्य विकास विभाग ने इसके लिए बाकायदा मोबाइल नम्बर जारी किया है। जिस पर एसएमएस या व्हाट्सएप सन्देश भेजकर कोई भी मनरेगा के तहत काम की मांग कर सकता है । इससे ग्रामीण क्षेत्र के लाभार्थियों को बड़ी राहत मिलेगी ।  ग्राम्य विकास विभाग के राज्य मनरेगा सेल के अपर आयुक्त योगेश कुमार का कहना है कि ग्रामीण लाभार्थियों को काम दिलाने में मदद को विभाग हमेशा तत्पर है, इसी के तहत यह नई पहल की गयी है ।

 मनरेगा सेल ने इसके लिए राज्य स्तर पर दो मोबाइल नम्बर- 9454464999 और 9454465555 जारी किया है । इसके साथ ही सभी खंड विकास अधिकारी (बीडीओ) को भी निर्देशित किया गया है कि वह भी ब्लाक के स्तर पर दो नंबर आवंटित करें और पंचायत स्तर पर उन नम्बरों को ज्यादा से ज्यादा प्रचारित-प्रसारित करें ताकि लोगों को मनरेगा के तहत काम पाने में सहूलियत हो । 
इसके तहत अब ग्रामीण लाभार्थियों को काम पाने के लिए इन नम्बरों पर एसएमएस या व्हाट्सएप सन्देश भेजना होगा। सन्देश प्राप्त होने के बाद विभाग जल्द से जल्द लाभार्थियों को काम दिलाने का प्रयास करेगा । 
इसके लिए उनको बेवजह न तो विभागों के चक्कर काटने पड़ेंगे और न ही कोई जुगत लगाने की जरूरत पड़ेगी । इस पारदर्शिता से अब ग्राम प्रधान, सचिव या सक्षम अधिकारी के सामने जी हुजूरी भी नहीं करनी पड़ेगी ।

संवाद:- अरुण वाजपेयी