September 23, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

4 साल में 4 लाख नौकरियां देने का लक्ष्य योगी सरकार में हो रहा पूरा: नवनीत सहगल

लखनऊ डीवीएनए। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि प्रदेश में संक्रमण कम हुआ है। सभी लोगों से अपील है कि मास्क पहनें, हाथ साबुन-पानी से धोते रहें तथा लोगों से दो गज की दूरी बनाये रखें। उन्होंने बताया कि पड़ोसी राज्य दिल्ली में संक्रमण बढ़ने से सीमावर्ती जनपदों में कुछ केस बढ़े थे। मुख्यमंत्री जी के निर्देशन में स्वयं प्रत्येक दिन समीक्षा करते हैं। प्रदेश का यह बड़ा एचीवमेन्ट है कि पूरी व्यवस्था में शुरू में मार्च में 72 टेस्ट प्रतिदिन टेस्ट करने की क्षमता थी जो अब बढ़ाकर 01 लाख 90 हजार टेस्ट प्रतिदिन किया जा रहा है। इसी अनुसार टेस्ट प्रतिदिन किये जा रहे है। उन्होंने बताया कि अब तक 2.32 करोड़ से अधिक कोविड-19 के टेस्ट किये जा चुके हैं जो कि पूरे देश में अब तक का सर्वाधिक है। घर-घर सर्वे का कार्य भी तेजी से किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की टीम के द्वारा सर्विलांस के माध्यम से लगभग 14.99 करोड़ लोगों तक पहुंच कर उनका हालचाल लेते हुए कोविड-19 संक्रमण की जानकारी भी ली गयी हैै। इस प्रकार उत्तर प्रदेश सरकार की विभिन्न एजेन्सीज द्वारा प्रदेश के लगभग 24 करोड़ जनसंख्या के 17.31 करोड़ जनसंख्या का या तो टेस्ट किया गया, या हालचाल लिया है, जो देश में अभी तक का अपना अनूठा प्रयोग है। प्रदेश में कोरोना में कमी आ रही है फिर भी सभी को सावधानी बरतने की आवश्यकता है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि मास्क पहने, हाथ साबुन से धोते रहे, सैनेटाइजर का प्रयोग करे तथा भीड़भाड़ वाले इलाकों में जाने से बचे।
सहगल ने बताया कि मिशन रोजगार अभियान के अन्तर्गत बड़ी संख्या में रोजगार देने का प्रयास किया जा रहा है। अभियान के अन्तर्गत प्रत्येक जनपद की एक कार्य योजना बनाई जा रही है। जिसमें सरकारी नौकरियों के माध्यम से, सरकारी योजनाओं से स्वरोजगार, बैंकों से समन्वय करके, कौशल प्रशिक्षण द्वारा स्वरोजगार तथा विभिन्न विभागों द्वारा चलाये जा रहे निर्माण कार्यों में रोजगार के अवसरों कोे एक योजनाबद्ध तरीके से आगे बढ़ाया जायेगा, ताकि प्रदेश में अधिक से अधिक रोजगार के अवसर पैदा किये जाएं। उन्होंने बताया कि मा0 मुख्यमंत्री जी ने समीक्षा की है सभी आयोगों को, निगमों को, परिषदों को तथा विभागों को निर्देशित किया है कि उनके यहां जितनी रिक्तियां हैं उन रिक्तियों को शीघ्र भरने की प्रक्रिया पारदर्शी तरीके से की जाय। चार साल में 04 लाख नौकरियां देने का लक्ष्य था जो कि पूरा हो रहा है। इस अभियान को अगले वर्ष और तेजी से किया जायेगा।
श्री सहगल ने बताया कि औद्योगिक गतिविधियों को सामान्य रूप से चल रही है। आर्थिक गतिविधियों को बढ़ाने का कार्य तेजी से करने के साथ-साथ रोजगार के अवसर बढ़ाने पर विशेष ध्यान दे रही है। प्रदेश में रोजगार के और अवसर सृजित करने के लिए तथा अधिक से अधिक लोगों को रोजगारों में लगाने के लिए नई एम0एस0एम0ई0 इकाइयों के माध्यम से अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के अन्तर्गत 6.80 लाख नई एम0एस0एम0ई0 इकाइयांें को 20,790 करोड़ रूपये का ऋण दिया गया है। प्रदेश में पुरानी इकाइयों को कार्यशील, पूंजी की समस्या से निजात दिलाने के लिए बैंकों से समन्वय करके आत्मनिर्भर पैकेज में 4.37 लाख इकाईयों को रू0 11,100 करोड़ रूपये के ऋण बैंकों से समन्वय स्थापित कर स्वीेकृत करते हुए वितरित किये गये हैं। अब तक 11.20 लाख इकाइयों को बैंकों के माध्यम से 32000 करोड़ रूपये का ऋण बैंकों के माध्यम से दिया गया है। एम0एस0एम0ई0 इकाइयों से 27 लाख से अधिक लोगों को रोजगार के अवसर सुलभ हुए है। प्रदेश सरकार मिशन रोजगार के अन्तर्गत स्वरोजगार तथा उद्योग के माध्यम से रोजगार के अवसर दिये जा रहे हैं। इस वित्तीय वर्ष में 20 लाख इकाइयों को ऋण उपलब्ध कराने का लक्ष्य रखा गया है। कम से कम 50 लाख लोगों को स्वरोजगार के अवसर सृजित होंगे।
श्री सहगल ने बताया कि प्रदेश सरकार किसानों के हित के लिए कार्य कर रही है। प्रदेश सरकार किसानों को उनकी फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य देने के लिए कृतसंकल्प है। जिससे किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उनकी धान खरीदी गयी। उन्होंने बताया कि अब तक किसानों से 453.44 लाख कु0 धान की खरीद की जा चुकी है। जो पिछले वर्ष में डेढ़ गुना अधिक है। उन्होंने बताया कि साढ़े तीन वर्ष में 179.48 मी0 टन धान तथा 162.71 मी0 टन गेहूं किसानों से खरीदा गया है इस प्रकार 60,921 करोड़ रू0 की फसल किसानों से खरीदी जा चुकी है। अब तक किसानों से 7,06,515.50 कु0 मक्का की खरीद की जा चुकी है। बुन्देलखण्ड में मूंगफली की भी खरीद की जा रही है। उन्हांेने बताया मा0 प्रधानमंत्री द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के अन्तर्गत 2.20 करोड से अधिक किसानों को 4 हजार 200 करोड़ रूपये से अधिक की धनराशि हस्तान्तरित की गयी है। इस धनराशि को मिला लिया जाय तो पिछले साढ़े तीन वर्ष में लगभग 28 हजार करोड़ रूपये से अधिक की धनराशि किसानों को हस्तान्तरित की गयी इसके अतिरिक्त साढ़े तीन वर्षों में गन्ना किसानों को 1,12,000 करोड़ रूपये का रिकार्ड भुगतान किया गया। राज्य सरकार किसानों के हितों के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है और किसानों की समस्या का निदान प्राथमिकता से सुनिश्चित करने के निर्देश अधिकारियों को दिये गये हैं। उन्होंने बताया कि किसानों को उनकी फसल पर न्यूनतम समर्थन मूल्य दिया जा रहा है तथा मण्डी शुल्क भी कम कर दिया गया है।
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,23,471 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 2,32,39,796 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 1102 नये मामले आये हैं। प्रदेश में 15,875 कोरोना के एक्टिव मामले में संे 7017 लोग होम आइसोलेशन में हैं। अब तक कुल 3,38,199 लोग होम आइसोलेशन का विकल्प ले चुके हैं, जिसमें से 3,31,182 लोग उपचारित होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। उन्होंने बताया कि निजी चिकित्सालयों में 1,690 लोग ईलाज करा रहे हैं, इसके अतिरिक्त मरीज एल-1, एल-2 तथा एल-3 के सरकारी अस्पतालों मंे अपना ईलाज करा रहे हंै। उन्होंने बताया कि अब तक कुल 5,56,912 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। प्रदेश में कोविड-19 का रिकवरी प्रतिशत 95.84 है। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,78,026 क्षेत्रों में 4,95,856 टीम दिवस के माध्यम से 3,08,09,458 घरों के 14,99,78,654 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। प्रदेश में ई-संजीवनी के माध्यम से 24 घंटे में 1657 लोगों ने चिकित्सीय परामर्श लिया है। अब तक 3,14,911 लोगों ने चिकित्सीय परामर्श लिया है। उन्होंने बताया कि 15 दिसम्बर से गोल्डेन कार्ड बनाने की प्रक्रिया जारी है। अभी तक 3,36,735 नये कार्ड बनाये गये हैं, जिसमें से 1,25,043 ऐसे परिवार हैं जिनको किसी भी प्रकार के कार्ड जारी नहीं हुए थे।
श्री प्रसाद ने बताया कि जो लोग यू0के0 से आए हैं वह अपना टेस्ट आरटीपीसीआर विधि से अवश्य कराएं। कुछ मामले सामने आये हैं कि आने के बाद वो लोग मोबाइल आॅफ कर लिये हैं। सभी लोगों से अपील है कि आप लोग अपनी कोविड-19 की टेस्ट तत्काल कराएं। भारत सरकार से 1655 लोगों की सूची प्राप्त हुई है जिसमें से 1085 लोगों से सम्पर्क कर लिया गया है और 1085 में से 609 लोगों का कोविड-19 का टेस्ट किया गया, जिसमें से 08 लोगों की पाॅजीटिव रिपोर्ट आई है, जिसमें से 07 लोगों का इलाज प्रदेश में किया जा रहा है तथा 01 व्यक्ति अपना इलाज दिल्ली में करा रहे हैं।
श्री प्रसाद ने बताया कि सभी लोग मास्क पहनें, हाथ साबुन-पानी से धोते रहें तथा लोगों से दो गज की दूरी बनाये रखें। जब तक वैक्सीन नहीं आती तब तक पहले से बीमार बुजुर्गों, बच्चों, गर्भवती महिलाओं को संक्रमण से बचाना होगा। प्रदेश सरकार वैश्विक महामारी कोविड-19 के नियंत्रण के लिए तकनीकी का व्यापक और बेहतर प्रयोग कर रही है। स्वास्थ्य विभाग के डी0जी0 मेडिकल हेल्थ उ0प्र0 के पोर्टल पर जाकर घर बैठे ही आप अपने कोविड-19 टेस्टिंग के परिणाम को देखा जा सकता है। मेरा कोविड केन्द्र ऐप के माध्यम से उपयोगकर्ता द्वारा 05 किलोमीटर के दायरे में स्थित कोविड-19 जांच केन्द्र की जानकारी प्राप्त की जा सकेगी। इसके साथ-साथ केन्द्र पर उपलब्ध कोविड-19 की टेस्टिंग विधि की जानकारी भी मिलेगी।