April 20, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

मिशन रोजगार अभियान के अन्तर्गत बड़ी संख्या में रोजगार देने का प्रयास

लखनऊ डीवीएनए। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल ने लोक भवन में प्रेस प्रतिनिधियों को सम्बोधित करते हुए बताया कि कोरोना वायरस के नए स्वरूप के दृष्टिगत पूरी सावधानी व सतर्कता बरती जा रही है। यू0के0 में वायरस के नए स्वरूप के मिलने पर 09 दिसम्बर, 2020 के बाद यू0के0 से प्रदेश में आए लोगों की अनिवार्य रूप से आर0टी0पी0सी0आर0 विधि से टेस्टिंग की जायेगी तथा कोविड प्रोटोकाॅल का भी पालन कराया जायेगा। प्रदेश सरकार कोरोना संक्रमण को नियंत्रित करने के लिए योजनाबद्ध तरीके से कार्य कर रही है। उन्होंने बताया कि अब तक 2.29 करोड़ से अधिक कोविड-19 के टेस्ट किये जा चुके हैं। घर-घर सर्वें का कार्य भी तेजी से किया जा रहा है। स्वास्थ्य विभाग की टीम के द्वारा सर्विलांस के माध्यम से लगभग 15 करोड़ लोगों तक पहुंच कर उनका हालचाल लेते हुए कोविड-19 संक्रमण की जानकारी भी ली गयी है। उन्होंने बताया कि उत्तर प्रदेश देश का ऐसा पहला राज्य है जहां सबसे अधिक कोरोना संक्रमण की जांच की गयी है और इतनी बड़ी संख्या में लोगों से सम्पर्क किया गया है। प्रदेश में कन्टेनमेंट जोन तथा हाटस्पाॅट एरिया में भी कमी आयी है। प्रदेश में कोरोना में कमी आ रही है फिर भी सभी को सावधानी बरतने की आवश्यकता है। उन्होंने लोगों से अपील की है कि मास्क पहने, हाथ साबुन से धोते रहे, सैनेटाइजर का प्रयोग करे तथा भीड़भाड़ वाले इलाकों में जाने से बचे।
श्री सहगल ने बताया कि कल मुख्यमंत्री जी ने प्रवासी मजदूरों के सबंध में आयोग तथा उनके लिए स्थानीय स्तर पर रोजगार के और अवसर सृजित करने के संबंध में समीक्षा की। मिशन रोजगार अभियान के अन्तर्गत बड़ी संख्या में रोजगार देने का प्रयास किया जा रहा है। अभियान के अन्तर्गत प्रत्येक जनपद की एक कार्य योजना बनाई जा रही है। जिसमें सरकारी नौकरियों के माध्यम से, सरकारी योजनाओं से स्वरोजगार, बैंकों से समन्वय करके, कौशल प्रशिक्षण द्वारा स्वरोजगार तथा विभिन्न विभागों द्वारा चलाये जा रहे निर्माण कार्यों में रोजगार के अवसरों कोे एक योजनाबद्ध तरीके से आगे बढ़ाया जा रहा है। ताकि प्रदेश में अधिक से अधिक रोजगार के अवसर पैदा किये जाएं। उन्होंने बताया कि वित्तीय वर्ष के अन्त तक 50 लाख लोगों को रोजगार देने का लक्ष्य रखा गया है जिसमें अभी तक एम0एस0एम0ई0 इकाइयों से 27 लाख से अधिक लोगों को रोजगार के अवसर सुलभ कराएं जा चुके है।
श्री सहगल ने बताया कि औद्योगिक गतिविधियों को सामान्य रूप से चल रही है। आर्थिक गतिविधियों को बढ़ाने का कार्य तेजी से करने के साथ-साथ रोजगार के अवसर बढ़ाने पर विशेष ध्यान दे रही है। प्रदेश में रोजगार के और अवसर सृजित करने के लिए तथा अधिक से अधिक लोगों को रोजगारों में लगाने के लिए नई एम0एस0एम0ई0 इकाइयों के माध्यम से अभियान चलाया जा रहा है। इस अभियान के अन्तर्गत 6.80 लाख नई एम0एस0एम0ई0 इकाइयांें को 20,780 करोड़ रूपये का ऋण दिया गया है। अब तक 11.30 लाख इकाइयों को बैंकों के माध्यम से 31800 करोड़ रूपये का ऋण बैंकों के माध्यम से दिया गया है। इस वित्तीय वर्ष 20 लाख इकाइयों को बैंकों के माध्यम से वित्त पोषित किये जाने का लक्ष्य रखा गया है। प्रदेश सरकार मिशन रोजगार के अन्तर्गत स्वरोजगार तथा उद्योग के माध्यम से रोजगार के अवसर दिये जा रहे हैं। एम0एस0एम0ई0 इकाइयों से 27 लाख से अधिक लोगों को रोजगार के अवसर सुलभ हुए है।
श्री सहगल ने बताया कि प्रदेश सरकार किसानों के हित के लिए कार्य कर रही है। किसानों को उनकी फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य देने के लिए कृतसंकल्प है। उन्हांेने बताया कि कल मा0 प्रधानमंत्री द्वारा प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के अन्तर्गत 2.26 करोड़ किसानों को 456 करोड़ रूपये की धनराशि उनके खातों में सीधे हस्तान्तरित की जायेगी। इसके पूर्व 24 हजार करोड़ की धनराशि स्थानान्तरित की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि कल मा0 प्रधानमंत्री द्वारा किसानों को 456 करोड़ रूपये की धनराशि उनके खातों में सीधे हस्तान्तरित को जोड़ते हुए 28,709 करोड़ रूपये की धनराशि किसानों को हस्तान्तरित कर दी जायेगीं। उन्होंने बताया कि गन्ना किसानों को 1,12,000 करोड़ रूपये का रिकार्ड भुगतान किया गया है। रमाला सहकारी चीनी मिल बागपत सहित 20 चीनी मिलों का विस्तारीकरण किया गया है एवं आधुनिकीकरण किया गया है। उन्होंने बताया कि अब तक किसानों से 436.01 लाख कु0 धान की खरीद की जा चुकी है। जो पिछले वर्ष में डेढ़ गुना अधिक है। उन्होंने बताया कि साढ़े तीन वर्ष में 180 मी0 टन धान तथा 170 मी0 टन गेहूं किसानों से खरीदा गया है इस प्रकार 60 हजार करोड़ रू0 की फसल किसानों से खरीदी जा चुकी है। अब तक किसानों से 6,76,049 कु0 मक्का की खरीद की जा चुकी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में वर्तमान सरकार के बनने के बाद 86 लाख किसानों का 36 हजार करोड़ रूपये का कर्ज माफ किया था। राज्य सरकार किसानों के हितों के लिए पूरी तरह प्रतिबद्ध है और किसानों की समस्या का निदान प्राथमिकता से सुनिश्चित करने के निर्देश अधिकारियों को दिये गये हैं। उन्होंने बताया कि किसानों को उनकी फसल पर न्यूनतम समर्थन मूल्य दिया जा रहा है तथा मण्डी शुल्क भी कम कर दिया गया है।
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश में कल एक दिन में कुल 1,40,055 सैम्पल की जांच की गयी। प्रदेश में अब तक कुल 2,29,72,685 सैम्पल की जांच की गयी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना सेे संक्रमित 1166 नये मामले आये हैं। प्रदेश में 16,299 कोरोना के एक्टिव मामले हैं। उन्होंने बताया कि अब तक कुल 5,54,202 लोग कोविड-19 से ठीक होकर डिस्चार्ज हो चुके हैं। प्रदेश में कोविड-19 का रिकवरी प्रतिशत 95.75 है। प्रदेश में सर्विलांस टीम के माध्यम से 1,77,450 क्षेत्रों में 4,94,482 टीम दिवस के माध्यम से 3,07,50,398 घरों के 14,97,20341 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है। प्रदेश में ई-संजीवनी के माध्यम से 24 घंटे में 4584 लोगों ने चिकित्सीय परामर्श लिया है। अब तक 3,08,716 लोगों ने चिकित्सीय परामर्श लिया है।
श्री प्रसाद ने बताया कि वायरस के नये स्वरूप सामने आने पर भारत सरकार ने यूनाइटेड किंगडम के बीच की उड़ाने स्थगित कर दी हैं। यू0के0 में वायरस के नए स्वरूप से मिलने पर यू0के0 से 09 दिसम्बर, 2020 के बाद प्रदेश में आए लोगों की अनिवार्य रूप से आर0टी0पी0सी0आर0 विधि से टेस्टिंग की जायेगी तथा कोविड प्रोटोकाॅल का भी पालन कराया जायेगा। यूनाइटेड किंगडम के अलावा अन्य आने वाले लोग अपनी जांच करायें। इसके अलावा सभी लोग मास्क पहनें, हाथ साबुन-पानी से धोते रहें तथा लोगों से दो गज की दूरी बनाये रखें। जब तक वैक्सीन नहीं आती तब तक पहले से बीमार बुजुर्गों, बच्चों, गर्भवती महिलाओं को संक्रमण से बचाना होगा। प्रदेश सरकार वैश्विक महामारी कोविड-19 के नियंत्रण के लिए तकनीकी का व्यापक और बेहतर प्रयोग कर रही है। स्वास्थ्य विभाग के डी0जी0 मेडिकल हेल्थ उ0प्र0 के पोर्टल पर जाकर घर बैठे ही आप अपने कोविड-19 टेस्टिंग के परिणाम को देखा जा सकता है। मेरा कोविड केन्द्र ऐप के माध्यम से उपयोगकर्ता द्वारा 05 किलोमीटर के दायरे में स्थित कोविड-19 जांच केन्द्र की जानकारी प्राप्त की जा सकेगी। इसके साथ-साथ केन्द्र पर उपलब्ध कोविड-19 की टेस्टिंग विधि की जानकारी भी मिलेगी।