May 13, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

प्रदर्शन कर रहे किसानों को धमकाने के मामले में रागिनी तिवारी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज

नई दिल्ली। (डीवीएनए) नए कृषि कानूनों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे किसानों को धमकाने के आरोप में दिल्ली पुलिस ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली के जाफराबाद थाने में  रागिनी तिवारी के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

दिल्ली पुलिस ने सोशल मीडिया के माध्यम से किसानों को खुलेआम धमकी देने के लिए रागिनी तिवारी के खिलाफ आईपीसी 153 के तहत एक एफआईआर दर्ज की है। वास्तव में, रागिनी तिवारी ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर एक उत्तेजक वीडियो पोस्ट किया था। जिसमें उसने दिल्ली के सीमावर्ती इलाकों में विरोध कर रहे किसानों को धमकी दी है कि अगर 17 दिसंबर से पहले किसान सड़कों पर से  नहीं जाते हैं, तो वे उनके साथ वैसा ही व्यवहार करेंगे जैसा दिल्ली के दंगों के दौरान जाफराबाद में किया था। दिल्ली के दंगों के दौरान, रागिनी तिवारी ने इसी तरह अपने भड़काऊ भाषणों के साथ सोशल मीडिया पर वीडियो पोस्ट करके दंगों को भड़काने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी,

हालांकि उस समय दिल्ली पुलिस द्वारा रागिनी तिवारी के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई थी। दिल्ली पुलिस ने इस मुद्दे पर सख्त रुख अपनाया और रागिनी तिवारी के खिलाफ मामला दर्ज कराया. पुलिस ने खुद को हिंदू नेता बताने वाली रागिनी तिवारी के खिलाफ मामले में जांच शुरू की है। दिल्ली के दंगों के दौरान रागिनी तिवारी की क्या भूमिका थी? रागिनी  तिवारी के कुछ वीडियो भी प्राप्त किए हैं जिसमें वह भड़काऊ भाषण दे रही थीं।

संवाद:- सादिक़ जलाल