August 5, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

500 व 1000 वसूल कर जारी कर दी कोविड 19 की फर्जी रिपोर्ट, मुकदमा दर्ज

नैनिताल-रामनगर (डीवीएनए)। निजी संचालन में चल रहे रामनगर के रामदत्त जोशी संयुक्त सरकारी चिकित्सालय ने एक स्वयं सेवी सस्था के तत्वाधान में आर्मी भर्ती का प्रशिक्षण ले रहे सैकड़ों युवाओं का पांच सौ से एक हजार रूपए लेकर फर्जी कोविड-19 टैस्ट कर डाला।
फर्जीवाड़े की गंभीरता का यह आलम है, कि कोविड-19 के नोडल अधिकारी प्रशांत कौशिक के फर्जी दस्खत और मोहर के साथ कोविड-19 का नेगेटिव प्रमाण पत्र भी जारी कर दिया, यहां तक की प्रमाण पत्र में 27 दिसंबर 2020 की तारीख अंकित की गई, जबकि अभी 27 दिसंबर को आने में काफी वक्त है।
प्रशांत कौशिक का कहना है कि प्राइवेट तौर पर रखे गऐ लैब टेक्नीशियन प्रशांत बुधौडी यह सब नकली दस्तावेज तैयार किए हैं और इस दस्तावेज को तैयार करने में कितने लोग शामिल है इसकी जांच की जा रही है।
वही CHC यूनिट प्रभारी राकेश कुमार ने दोषियों के खिलाफ 420/468 IPC के तहत मुकदमा दायर किया है।
इस संदर्भ में भाजपा से जुड़े तेजतर्रार कार्यकर्ता अनुज अग्रवाल ने नोडल अधिकारी प्रशांत कौशिक को तहरीर देकर इस षड्यंत्र में संलिप्त दोषियों पर कार्रवाई की मांग करते हुए युवाओं का पैसा लौटाने की बात कही है । अनुज अग्रवाल के मुताबिक नोडल अधिकारी प्रशांत कौशिक ने अग्रिम कार्रवाही के आदेश जारी कर दिए है ।
उल्लेखनीय है, यह युवा अपना फिटनेस टेस्ट प्रमाण पत्र प्राप्त करने के लिए अस्पताल गए थे । यहां उनसे कहा गया कि बगैर कोविड-19 की जांच के फिटनेस प्रमाण पत्र जारी नहीं किया जाऐगा।
संवाद वसीम अब्बासी