July 24, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

‘संरहिन्द पंजाब’ की सफलता हेतु चला हस्ताक्षर अभियान…

आगरा. (डीवीएनए)अभियान फाउंडेशन द्वारा आयोजित ‘सरहिन्द पंजाब’ श्रद्धांजलि यात्रा आगरा किले से फतेहगढ़ साहिब ‘सरहिन्द पंजाब’ यात्रा की सफलता जागरूकता व भागीदारी हेतु आज 21 दिसंबर सोमवार को स्पीड कलर लेब संजय प्लेस क्रॉसिंग पर आयोजित हस्ताक्षर अभियान में बड़ी संख्या में व्यापारियों, छात्रों, नोजवानों, सहित अनेक समाजसेवियों ने अपने हस्ताक्षर कर ‘सरहिंद पंजाब’ यात्रा को तन-मन-धन से सफल मनाने की अपील की.
अभियान के अध्य्ाक्ष और यात्रा के संयोजक रवि दुबे ने कहा कि 4 दिवसीय ‘सरहिन्द पंजाब यात्रा’ हिन्दु धर्मरक्षक गुरू गोविन्द सिंह जी और उनके चार वीर पुत्रों बाबा अजीत सिंह, बाबा जुझारू सिंह, बाबा जोरावर सिंह, बाबा फतेहसिंह के शहीदी दिवस पर 25 दिसम्बर को आगरा किले से चलकर 28 दिसम्बर को फतेहगढ़ सहिब में आयोजित कीर्तन दरबार में मत्था टेक कर फतेहगढ़ साहिब की पवित्र भूमि से केन्द्र सरकार से आहवान करेगी.
सरकार के समक्ष रखी जाने वाली मांगों में बाल दिवस 14 नवम्बर की जगह गुरू गोविन्द सिंह जी के शहीद पुत्रों की स्मृति में शहीदी दिवस 26 दिसम्बर किया जाए.कक्षा 6 से 8 वीं कक्षा तक के शैक्षिक पाठ्यक्रमों व सभी बोर्ड के पाठ्यक्रम में ‘चमकौर युद्ध’ को शामिल किया जाए. फतेहगढ़ साहिब से लेकर पटना साहिब तक एनएच-2 का नाम ‘माता गुजर कौर राजमार्ग’ किया जाए. गुरू गोविन्द सिंह जी व उनके परिवार का चरित्र 10 से 12वीं कक्षा तक के सभी पाठ्यक्रमों व सभी बोर्ड में शमिल किया जाए. चमकौर तथा फतेहगढ़ साहिब में ‘सरहिन्द पंजाब’अन्तराष्ट्रीय स्तर का स्मारक गुरू गोविन्द सिंह जी के चारो पुत्रों की स्मृति में बनाया जाये. भविष्य में कोई भी नया उपग्रह, लड़ाकू विमान, अथवा नए वैज्ञानिक अविष्कार का नामकरण गुरू गोविन्द सिंह के चारों शहीद पुत्र बाबा अजीत सिंह, बाबा जुझारू सिंह, बाबा जोरावर सिंह, बाबा फतेहसिंह के नाम पर किए जाने की मांग के साथ गुरू तेज बहादुर सिंह जी के 400वें प्रकाश पर्व के उपलक्ष्य में दिल्ली मेट्रो के ‘राजीव चैक’  स्टेशन का नाम बदलकर ‘गुरूतेग बहादुर चैक’ किया जाये.
अभियान के सचिव व यात्रा के सह संयोजक संक्रेश शर्मा ने बताया कि ‘सरहिन्द पंजाब यात्रा’ उत्तर प्रदेश, हरियाणा, दिल्ली, पंजाब चार राज्यों से जुड़ें शहरों आगरा, फरह, मथुरा, कोसी, होडल, पलवल,बल्लभगढ़, फरीदाबाद, दिल्ली, सोनीपत, पानीपत, करनाल, कुरूक्षेत्र, अम्बाला, राजपुरा, से गुजरकर फतेहगढ़ साहिब ‘सरहिन्द पंजाब’ पहुंचेगी. यात्रा 4 राज्यों के 17 शहरों व सैकड़ों गावो से होकर गुजरेगी.
सह संयोजक भूपेंद्र ठाकुर ने कहा कि आगरा किले से 25 दिसंबर को आरम्भ होने वाली इस यात्रा का शुभारम्भ आगरा किला से होकर बिजलीघर, श्यामजी मंदिर, जिला चिकित्सालय, स्टेट बैंक क्रांसिग, कलैक्ट्रेट , धाकरान , नालबंद , राजामंडी, सेंट जाॅन्स, हरीपर्वत, सूरसदन, दीवनी से भगवान टाॅकीज चैराहे से गुरू का ताल गुरूद्वारा पर मत्था टेक अपने गंतव्य को रवाना होगी.
यात्रा प्रभारी शांतिदूत बंटी ग्रोवर ने बताया कि आगरा किले से गुरूद्वारा गुरू का ताल तक नगर भर में यात्रा का स्वागत विभिन्न सामाजिक व्यापारिक संस्थाओं व बाजार कमेटियों सहित सभी वर्ग द्वारा किया जाएगा.
हस्ताक्षर अभियान की शरुआत महिला शांति सेना की अध्य्ाक्ष वत्सला प्रभाकर शीला बहल से शुरू होकर सरदार निर्मल सिंह, बंटी ग्रोवर, रिक्की शर्मा, गोपाल शर्मा, प्रशांत गोयल, अमित गुप्ता, सहयात्रा प्रभारी केशव अग्रवाल, योगेश कुमार, निर्देश तिवारी आदि बड़ी संख्या में मौजूद थे.

संवाद:- दानिश उमरी