September 29, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

खुशखबरीः बांदा मेडिकल कालेज में लगेगी कोरोना जांच की आधुनिक मशीन

बांदा। डीवीएनए

शासन स्तर पर कोरोना जांचों का प्रतिशत लगातार कोशिशें हो रही हैं, इसी क्रम में बांदा राजकीय मेडिकल कालेज मेंजल्द ही एक नई आरटीपीसी आरमशीन लग जायेगी।इस मशीन की लागत 18लाख रुपये होगी।

इसके लग जानें के बादप्रतिदिन लगभग साढ़े तीन लाख जांचे होगी।मंडल के चारों जिलों के अलावा अन्य जिलों एंव मध्यप्रदेश के सीमावर्ती जिलों क़ो भी लाभ मिलेगा।


कोरोना संक्रमण फैलाव के समय शुरू में राजकीय मेडिकल कॉलेज नरैनी रोड समेत जनपद में कहीं भी आरटीपीसीआर (रियल टाइम पॉली मरेज चौन रियेक्शन) जांचों की सुविधा नहीं थी। इससे कोरोना की सही पुष्टि के लिए सैंपलों को लखनऊ व झांसी मेडिकल कॉलेज भेजा जाता था।

वहां से जांच की रिपोर्ट आने में 5 से 7 दिन तक समय लगता था। लेकिन बीएसएल टू लैब बनने के बाद यहां आरपीसीआर जांचें होना शुरू हो गई थीं। एक मशीन में एक बार में 90 सैंपलों की जांच होती है। जिसमें करीब दो से तीन घंटे का समय लगता है।\

रोजाना करीब डेढ़ से दो हजार अभी जांचे ही हो पा रही हैं। जांचों का प्रतिशत और बढ़ाने के शासन के निर्देश को लेकर राजकीय मेडिकल कॉलेज प्रशासन ने उनसे एक और आरटीपीसीआर मशीन लगाए जाने की पिछले माह मांग की थी। जिसमें चिकित्सा शिक्षा महानिदेशक की ओर से मशीन लगवाने की स्वीकृति दी है।

वहां से हरी झंडी मिलने के बाद कॉलेज प्रशासन की ओर से नई मशीन के लिए टेंडर कराए गए हैं। दो मशीनों के लैब में लगने से जांचों का दायरा और बढ़ जाएगा। इससे चित्रकूट धाम मंडल के महोबा, हमीरपुर, चित्रकूट व बांदा जनपदों के मरीजों को जहां जांचों का लाभ मिलेगा वहीं आसपास के अन्य जनपदों व जनपद की सीमाओं से सटे छतरपुर व पन्ना मध्यप्रदेश की भी जांचे हो सकेंगी।


संवाद, विनोद मिश्रा