July 27, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

आयुक्त की इच्छा बुन्देलखंड में हो आधुनिक खेती पर समस्या जटिल!


बांदा। ( डीवीएनए)बुन्देलखंड में आधुनिक खेती पैर नहीं पसार पा रही। इस बात क़ो लेकर मंडलायुक्त गौरव दयाल ऩे चिंता जताई हैं। लेकिन वह जिस बात को नजर अंदाज कर रहें हैं वह यह है की यहां की बड़ी समस्या यह हैं की खेत को मांग के अनुरूप सिचाई के लिये पानी ही नहीं हैं।खाद-बीज के लिये किसानों को परेशानी उठानी पड़ती हैं।

सरकारी योजनाओ का समुचित लाभ किसानों को नहीं मिल पाता। कृषि पर दैवीय आपदाओं के बादल गरजते-बरसते रहते हैं। अन्ना प्रथा नें उन्हें कंगाल सा बना दिया।आयुक्त का चाहना हैं की बुन्देलखंड के परेशान हाल किसान आधुनिक खेती करें। कृषि वैज्ञानिक बुंदेलखंड के किसानों को आधुनिक खेती के लिए प्रेरित करें और इसके गुर सिखाएं।

किसान उत्तम तकनीक अपनाकर अपनी आमदनी काफी बढ़ा सकते हैं। आयुक्त गौरव दयाल ने कृषि विश्वविद्यालय का भ्रमण किया। फल विज्ञान विभाग द्वारा परिसर में दो वर्ष पूर्व लगाई गई बागवानी का जायजा लिया। यहां नीबू, बेर, अमरूद, अंजीर, अनार, मुसम्मी, ड्रेगन फ्रूट्स के पौधे देखे। कृषि वैज्ञानिकों से यहां की परिस्थितिजन्य समस्याओं पर चर्चा की।

पॉली हाउस में टमाटर, शिमला मिर्च, चेरी टमाटर, खीरा, ब्रोकली का जायजा लिया। प्याज, लहसुन की खेती पर किए जा रहे प्रयोग देखे। विश्वविद्यालय के डॉ. एके श्रीवास्तव, डॉ. आरके सिंह, डॉ. ओमप्रकाश, डॉ. निधिका ठाकुर ने आयुक्त को सब्जी एवं फल विज्ञान विभाग द्वारा किए जा रहे शोध के बारे में बताया।लेकिन कथनी औऱ करनी क्या साकार रूप ले सकेगी यहां कृषि की विपरीत परिस्थितियों को देखते हुये अति मुश्किल कार्य यानी स्वप्न की भांति लगता हैं।संवाद:- विनोद मिश्रा 2 Attachments