May 11, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

ग़ार वाली कर्बला की ज़मीन पर बेघर लोगों को बसाया जाए: मौलाना सैफ अब्बास

लखनऊ डीवीएनए। शिया धर्मगुरू मौलाना सैफ अब्बास ने गार वाली करबला पहुंचकर ध्वस्त गेट को देखा और बे घर लोगों से मुलाकात की। मौलाना सैफ अब्बास ने हुसैनाबाद में बेघर परिवार के प्रति अपनी सहानुभूति व्यक्त की। उन्होंने ट्रस्ट के अधिकारियों से आह्वान किया कि वे विस्थापितों को इस सर्दियों के मौसम में पीड़ित परिवार की मदद करें।
मौलाना सैफ अब्बास ने कहा कि वक्फ हुसैनाबाद से जुड़ी सभी संपत्तियां शिया राष्ट्र के गरीब और जरूरतमंदों के लिए समर्पित हैं लेकिन यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि जिम्मेदार व्यक्ति वक्फ के इरादे के खिलाफ काम कर रहे हैं। मौलाना ने कहा कि हुसैनाबाद ट्रस्ट के बैंक खातों में करोड़ों रुपये हैं लेकिन वक्फ इमारतें जर्जर हालत में हैं और गेट का ध्वस्त होना सबूत है मरम्मत का कोई काम नहीं हो रहा है। कर्बला मलिका आफाक़ (ग़ार वाली कर्बला) मे इमाम बाडा मलिका अफाक के गेट को देखा जा सकता है कि यह बहुत ही जर्जर हालत में है जिसमें जगह-जगह दरारें हैं और लोग रह रहे हैं। क्या हुसैनाबाद के अधिकारी किसी दुर्घटना का इंतजार कर रहे हैं?
मौलाना सैफ अब्बास ने वक्फ हुसैनाबाद ट्रस्ट के अध्यक्ष से अपील की है कि सभी गेटों का निरीक्षण करें और कर्बला मलिका आफाक़ (ग़ार वाली कर्बला) मरम्मत का काम शुरू करें। मौलाना ने कहा कि चेयरमैन वक्फ हुसैनाबाद ट्रस्ट से अपील की कि वह कर्बला मलिका आफाक़ (ग़ार वाली कर्बला) में खाली पड़ी जमीन पर शिया समुदाय के बे घर लोगों को बसाएं ताकि अवध के बादशहों के इच्छा के अनुसार काम हो सके । मौलाना के साथ मौलाना मिर्जा वाहिद हुसैन, गुनचाए मेहदिया के सचिव नुसरत हुसैन लाला, अंजुमन जलालुल ईमान के सचिव इमान परवेज आलम और हसन मियां मौजूद थे।
संवाद , अज़हर उमरी