May 11, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

जेई द्वारा यौन शोषित बच्चों के CBI कराएगी मानसिक अध्ययन

बांदा (डीवीएनए)।सिंचाई विभाग के अभियंता रामभवन के यौन शोषण से पीड़ित बच्चों की मानसिक दशा का अध्ययन किया जाएगा। इसके लिए सीबीआई एक अलग बोर्ड बनाने पर विचार कर रही है। यह बोर्ड बच्चों से उनके घर पर जाकर संपर्क करेगा जिससे उनकी गोपनीयता बनी रहे। 
सीबीआई ने बांदा की सक्षम अदालत से आरोपी अभियंता रामभवन को एम्स में मनोवैज्ञानिक व अन्य जांच के लिए ले जाने की अनुमति मांगी हुई है। सीबीआई ने पिछले दिनों आरोपी अभियंता को चार दिन की रिमांड पर लेकर पूछताछ की थी। 
इस दौरान सीबीआई ने आरोपी से पीड़ित लगभग दो दर्जन बच्चों के बारे में जानकारी हासिल की थी। सीबीआई ने कई ऐसे वीडियो भी बरामद किए जिनमें वह इन बच्चों से बात करते हुए पाया गया है। अभियंता के खिलाफ सुबूत जुटाने के लिए सीबीआई उसकी आवाज का नमूना भी हासिल करेगी जिससे वीडियो की प्रमाणिकता साबित की जा सके। सीबीआई आरोपी की आवाज के नमूने की जांच सेंट्रल फोरेंसिक साइंस प्रयोगशाला से कराएगी।
सिंचाई विभाग के अभियंता रामभवन को 17 नवंबर को गिरफ्तार किया गया था। वह इस समय बांदा जेल में बंद है। जांच में सामने आ चुका है कि आरोपी अभियंता ने बांदा, हमीरपुर व चित्रकूट जिलों में तैनाती के दौरान दर्जनों बच्चों को अपने जाल में फंसाया।
संवाद विनोद मिश्रा