April 19, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

SDM ने धारा 151 में दिया अनूठा फैसला, मनबढ़ हेडमास्टर को 10 दिन सुबह-शाम कोर्ट में लगानी होगी हाजिरी

महराजगंज (डीवीएनए)। बीएसए कार्यालय में हंगामा मचाने वाले मिठौरा क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय लेदवा के हेडमास्टर संजय सिंह आज बृहस्पतिवार को जेल जाने से बच तो गए लेकिन मुकदमे की सुनवाई के दौरान एसडीएम कोर्ट ने अनोखा फैसला सुनाया, उन्हें दस दिन सुबह व शाम दोनो वक्त हाजिरी लगानी पड़ेगी इतना ही नही अगर इस दौरान घटना की पुनरावृत्ति हुई तो मनबढ़ हेडमास्टर साहब को सलाखों के अंदर जाना पड़ सकता है ।
बताते चले कि मिठौरा क्षेत्र के प्राथमिक विद्यालय लेदवा में हेडमास्टर पद पर कार्यरत संजय सिंह बुधवार को नशे की हालत में बीएसए कार्यालय में पहुंच हंगामा कर बीएसए को गाली देने लगे तथा कार्यालय के कम्प्यूटर को पटक कर तोड़ दिया और फाइल भी फेंक दिया, जिससे ऑफिस में अफरा तफरी की स्थिति बन गई, इसके बाद प्रभारी बीएसए श्याम सुन्दर पटेल ने कोतवाल को फोन कर पुलिस को बुलाया।
सूचना मिलते ही मौके पर पहुंचे कलक्ट्रेट चौकी इंचार्ज अंकित सिंह किसी तरह हंगामा करने वाले हेडमास्टर संजय सिंह को पकड़ कर कोतवाली ले गए, मेडिकल परीक्षण कराया जिसमें मदिरा सेवन की पुष्टि की बात सामने आ रही है।
प्रभारी बीएसए की तहरीर पर कोतवाली पुलिस केस दर्ज कर गुरूवार की रात हेडमास्टर को लॉकअप में बैठा कर केस दर्ज किया लेकिन जिन धाराओं में केस दर्ज किया गया उन धाराओं में जेल भेजने का प्रावधान नही है। इसके बाद कोतवाली पुलिस आरोपित हेडमास्टर संजय सिंह के खिलाफ धारा 151 में केस दर्ज कर आज गुरूवार की शाम को एसडीएम कोर्ट में पेश किया।
कोतवाली के प्रभारी निरीक्षक मनीष सिंह ने बताया कि मजिस्ट्रेट ने हेडमास्टर को जमानत भी नही दिया और जेल भी नहीं भेजा, सजा के तौर पर हेडमास्टर को दस दिन तक एसडीएम कोर्ट में सुबह व शाम हाजिरी लगाने का निर्देश दिया, लेकिन कोई हरकत किये तो बाद मे यह कार्रवाई बढ़ाई जा सकती है।
एसडीएम का धारा 151 की कार्रवाई के मामले में यह अनूठा फैसला है, हेडमास्टर संजय सिंह के मामले में न तो जेल भेजने की कार्रवाई हुई और ना जमानत दी गई।