April 23, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

पर्यटन के लिए पहुंची युवतियों को छेड़ने लगा शराबी दरोगा, बवाल

कुशीनगर (डीवीएनए)। कुशीनगर जिले में तथागत भगवान बुद्ध की धरती को अंतरराष्ट्रीय पर्यटन का दर्जा मिला हुआ है यहाँ देश और विदेशो से लोग भगवान बुद्ध के दर्शन के लिए आते है। पुलिस भी इन पर्यटकों की सुरक्षा के अनेकों दावे करती है लेकिन मंगलवार की रात मुम्बई से पर्यटन के लिए आये परिवार के साथ जो हुआ उसे जान आप को उत्तरप्रदेश पुलिस के मिशन शक्ति, पर्यटक सुरक्षा और पुलिस आपकी मित्र जैसे तमाम दावे केवल खोखले लगेंगे।
पर्यटन नगरी मे घिनौनी हरकत परिवार बेबस
आप भी अपने परिवार के साथ कुशीनगर के पर्यटन का लुफ्त लेने से पहले एक बार जरूर सोचेंगे ? लेकिन कसया पुलिस अपने कारनामो से सुर्खियों में है कभी किसी का निकाह झूठी सूचना पर रूकवा लोगो को हवालात की हवा खिला देती हैं तो वही अब कसया पुलिस नए आरोपो में चर्चा में बनी हैं।
विरोध कर रहे परिजनो पर थाने मे हुआ अत्याचार
जहाँ अपने परिजनों के साथ आये पर्यटन के लिए महिलाओं के साथ अभद्रता और परिजनों के विरोध करने पर उनके साथ मारपीट की गई और उन्हें ही विभिन्न धाराओं ने जेल भी भेज दिया गया।
क्या है पूरा मामला और पुलिस पर लगे आरोप
मुम्बई से एक परिवार देवरिया जनपद के पथरदेवा में आयोजित शादी समारोह में शामिल होने के लिये आया हुआ था शादी सम्पन्न होने के बाद यह कुनबा मुंबई जाने से पहले कुशीनगर घुमने का मन बना लिया. मंगलवार को कुशीनगर घूमते- घूमते थोड़ा बिलंब हो गया तो ओवरब्रिज के किनारे आदित्य लॉज में पूरे परिवार के लोग भोजन करने लगे इस बीच कुशीनगर पुलिस चैकी इंचार्ज अपने दो सहयोगियों के साथ होटल में आते हैं और थोड़ी देर बाद युवतियों से अश्लील इशारा करने लगते हैं।
युवतियों को नर्तकी बताकर छेडने लगे सहयोगी सिपाही
बाहर से आया यह परिवार इनके गंदे इशारे को नजरअंदाज कर जल्दी- जल्दी भोजन कर होटल से निकले के प्रयास में लग जाता है परंतु नशे में धुत पुलिस कर्मी लडखड़ाते कदमों से युवतियों के टेबल तक पहुंच गये और युवतियों को आरकेस्ट्रा में काम करने वाली बताने लगे.
अतिरिक्त फोर्स बुलाकर परिवार को थाने ले गया आरोपी दरोगा
जिसके बाद पुलिस कर्मी इस कुनबे की सफाई सुनने को किसी कीमत पर तैयार नहीं थे और युवतियों को धक्का देने लगे.पुलिस कर्मियों की इस हरकत का जब युवतियों के भाईयों ने विरोध किया तो चैकी इंचार्ज ने मारपीट शुरू कर दिया और कसया थाने से अतिरिक्त फोर्स बुलाकर इस पढ़े लिखे परिवार को थाने उठा ले गये।
मोबाइल से पुलिस ने डिलीट किया अपनी गंदी बीडियो
युवतियों का कहना है कि थाने में उनके भाईयों की जमकर पीटाई की गयी और उनके मोबाइल घटना को लेकर में मौजूद वीडियो पुलिस ने डिलीट कर दिया. 
मामला दबाने के लिए होटल का फुटेज ले गयी कसयां पुलिस
कसया पुलिस को जब गलती का एहसास हुआ तो सबूत मिटाने के लिये आदित्य होटल में लगे सीसीटीवी का फूटेज के डीवीआर बॉक्स को अपने साथ लेते गये ताकि महिलाओं के साथ हुए पुलिस द्वारा बदसलूकी सामने न आ सके यही नहीं कसया पुलिस ने युवतियों के परिजनों पर आधा दर्जन से ज्यादा गंभीर धाराओं में केस भी दर्ज कर जेल भेज दिए पर्यटन के लिए आया ये परिवार बेबस होकर अधिकारियों के यहां जाकर अपने साथ पुलिसकर्मियों की अश्लीलता की दास्तान सुनाई गई पर इनकी बात जाच का हवाला देकर घर भेज दिया गया।
भक्षक बनी कसया पुलिस मदद के बजाय ले गयी होटल से सीसीटीवी बॉक्स को किया गायब
वैसे तो महिलाओं के साथ बदसलू की की सूचना पर सरकार ने कानून के रखवालो को इनकी हिफाजत के लिए बड़ा जिम्मेदारी दी हुई हैं.पर कुशीनगर जिले में अपने लिए न्याय की गुहार लगा रही बच्चियो को न्याय की कोई आस नही दिख रही हैं क्योंकि पर्यटकों और महिलाओं के रक्षक पुलिस की भूमिका ही इस पूरे मामले में सन्दिग्ध दिख रही हैं.क्योकि पुलिस सही थी तो होटल की सीसीटीवी के बॉक्स को क्यो गायब की।
पुलिस के कारनामों से विभागीय छवि पर लगा बदनुमा दाग
पूरा महकमा ही दोषियों को बचाने जैसी कार्यवाही करें तो बाहर से आने वाले पर्यटकों और महिलाओं को एक बार कुशीनगर आने से पहले जरूर सोचना पड़ेगा.
संवाद राकेश पाण्डेय