August 3, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

सीखें और सिखाएं, संविधान का सम्मान बढ़ाएं : लक्ष्य

लखनऊ (डीवीएनए)। लक्ष्य टीम ने संविधान दिवस को सम्मान दिवस के रूप में लखनऊ के जानकीपुरम में स्थिति लक्ष्य के प्रांतीय कार्यालय में मनाया और बाबा साहब डॉ भीमराव अम्बेडकर के योगदान को याद किया|

लक्ष्य कमांडरों ने कहा कि अगर बाबा साहब ना होते तो हमारा संविधान ऐसा मजबूत धर्मनिरपेक्ष न होता जो जाति, धर्म व लिंग भेद से परे है जो सभी नागरिकों को समान अधिकार देता है । हमारे इस संविधान ने पहले से चले आ रहे सभी भेदभाव, छुआछुत, ऊंचनीच को एक झटके में समाप्त कर दिया और जिसमे भेदभाव करने वाले लोगों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही के प्रावधान है | हमारा संविधान विश्व का सबसे बेहतरीन संविधान है जिसकी प्रशंसा विश्व के सभी देशों में होती है और यह सम्भव हो पाया केवल और केवल हमारे बाबा साहब डॉ भीमराव अम्बेडकर की वजह से, जिन्होंने इस समानता वाले संविधान के लिए कट्टरपन्थियों से जोरदार टक्कर ली |

लक्ष्य कमांडरों ने दुःख प्रकट करते हुए कहा कि आज भी दूषित मानशिकता वाले लोग नहीं चाहते कि संविधान में सबको समानता का अधिकार मिले | उन्होंने यह भी कहा कि इस संविधान के सुरक्षा की जिम्मेदारी सरकार के साथ साथ हम सभी नागरिकों की भी है ताकि उसको अच्छे से लागू किया जा सके और सभी नागरिको को विकास के समान अवसर मिल सकें तथा देश और मजबूत हो सके | इसके लिए देश के नागरिकों को संविधान पढ़ना होगा और उसमें प्रदत्त अधिकारों के बारे में शोषितों को जागरूक करना होगा | उन्होंने बहुजन समाज के लोगों से आवाह्न करते हुए कहा कि आओ मिलकर सीखें और सिखाएं, संविधान का सम्मान बढ़ाएं |

इस सम्मान दिवस में लक्ष्य कमांडर संघमित्रा गौतम, रेखा आर्या, रेखा चौधरी, राजकुमारी कौशल, रश्मि गौतम, पुष्पा भारती, मीना सुमन,देवकी बौद्ध, सविता बौद्ध, राजेश्वरी बौद्ध, लता, कुसमा बौद्ध, नीलम अंबेडकर,उर्मिला गौतम व लक्ष्य युथ कमांडर विनय प्रेम, ऋषभ, मूलचंद सुमन, एस पी कौशल ने हिस्सा लिया |