May 17, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

युवती ने कहा हम पति के साथ रहेंगे, न्यायालय ने ससुराल भेजने का दिया आदेश

मुरादाबाद-कांठ (डीवीएनए)। धर्म परिवर्तन कर मुस्लिम युवक से विवाह रचाने पर युवती की माता के प्रार्थना पत्र पर पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर युवती के पति एवं जेठ को कारागार तथा युवती को न्यायालय भेज दिया था। न्यायालय के आदेश पर युवती को उसके ससुराल भेज दिया गया है। युवती ने स्वेच्छा से निकाह कबूल करते हुए पेट दर्द के मामले में अस्पताल उपचार के दौरान गर्भपात होने का आरोप लगाते हुए सवाल खड़े कर दिए हैं। युवती ने अपने पति एवं जेठ की अविलंब रिहाई की मांग की है।
युवती पिंकी(22 वर्ष) देहरादून में रहकर बीए की पढ़ाई के साथ-साथ एक क्लॉथ शॉप पर नौकरी कर रही थी, जिसका प्रेम प्रसंग नगर कांठ के मोहल्ला पटेगंज निवासी राशिद पुत्र रजाली से हो गया जो वहां एक सैलून में काम करता था। युवती अपने शौहर के साथ रजिस्टर्ड निकाह करने कांठ तहसील आई थी। यह भनक बजरंग दल के कार्यकर्ताओं को लग गई। बजरंग दल के कार्यकर्ता हंगामा करते हुए प्रेमी युगल को थाना कांठ ले आये। पुलिस ने 5 दिसंबर को उत्तर प्रदेश धर्म परिवर्तन प्रतिषेध अधिनियम के तहत युवती की माता बाला देवी निवासी ग्राम दारागंज बिजनौर के प्रार्थना पत्र पर प्राथमिकी दर्ज कर युवती के पति राशिद एवं जेठ सलीम को कारागार एवं युवती को नारी निकेतन भेज दिया था। न्यायालय के निर्देश पर युवती को उस की ससुराल कांठ भेज दिया गया है।
युवती का कहना है कि स्वेच्छा से निकाह कर गत 5 माह से अपने पति के साथ कांठ में रह रही थी। युवती ने मीडिया के समक्ष बताया कि नारी निकेतन में उसके पेट में दर्द की शिकायत हुई जहां उसे अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल में उसका गर्भपात हो गया। युवती ने अपने पति एवं जेठ के अविलम्ब रिहाई की मांग की है।