July 27, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

जगमगा उठा अटल घाट,काशी व चित्रकूट की तर्ज पर हुई गंगा आरती…

कानपुर नगर,(डीवीएनए)।उत्तर प्रदेश के कानपुर में भी अब काशी व चित्रकूट की तरह रोज शाम गंगा आरती का सुखद अनुभव प्राप्त करने का मौका कानपुर के लोगों को मिला करेगा.जिसके को लेकर मंडलायुक्त डॉ. राजशेखर के निर्देशन में अटल घाट पर आज पहली बार कोविड प्रोटोकॉल के तहत गंगा आरती का आयोजन ट्रायल के तौर पर किया गया है. जिसमें कैबिनेट मंत्री सतीश महाना के साथ मेयर प्रमिला पांडे व मंडलायुक्त डॉ.राजशेखर ने गंगा आरती कर आयोजन का शुभारंभ किया और वही पहली बार 11 हजार दीये की रोशनी में अटल घाट जगमगा उठा.

इस दौरान कोरोना संक्रमण को देखते हुए गंगा आरती के दौरान अधिकतम 100 लोगों को ही उपस्थित रहे।इन 100 लोगों में क्षेत्र के सांसद,विधायक,मंत्री और अन्यगणमान्य लोग शामिल हुए।आरती पूरे विधि विधान से की गई और वही अटल घाट को 11 हजार दीप की रोशनी से जगमगा उठा और यह अद्भुत नजारा मौके पर मौजूद लोगों को काशी व चित्रकूट की गंगा आरती का एहसास करा रहा था।

तो वही काशी की तर्ज पर पुरोहितों के लिए आसन भी लगाए गए था.शाम होते-होते कानपुर के अटल घाट का नजारा बेहद सुंदर और अलग नजर आ रहा था। इसकी सफलता के बाद गंगा आरती के आयोजन को अटल घाट पर नियमित किए जाने की तैयारियों को पंख मिल गए हैं और जल्द ही जिला प्रशासन या किसी अन्य संस्था की देखरेख में गंगा आरती कार्यक्रम रोज शाम को पांच बजे से एक घंटे के लिए यह जाने की व्यवस्था अब की जा रही है.जिसके लिए मौके पर मौजूद मंत्रियों से लेकर व्यापारियों ने आगे बढ़कर इस आयोजन को रोज कराने के लिए जिला प्रशासन के सहयोग करने की बात भी कही है।

कानपुर मंडलायुक्त डॉ राजशेखर ने बताया कि इस पहले ट्राइयल आरती की सफलता को देखते हुए,नगर निगम एक “गंगा आरती आयोजन समिति” की स्थापना करेगा।समिति वाराणसी और हरिद्वार भ्रमण कर आरती का अध्ययन करेगी और फिर अगले 6 महीनों के लिए एक महीने में एक दिन आरती की योजना बनाएगी, और फिर अगले छह महीनों के लिए हर सप्ताह एक आरती करेगी। एक वर्ष के बाद, एक बार जब चीजें स्थिर हो जाती हैं, तो अटल घाट पर हर दिन आरती की जाएगी। यह स्वच्छ और अविरल गंगा के बारे में जागरूकता के साथ-साथ कानपुर के पर्यटन को काफी बढ़ावा मिलेगा।