August 3, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

काशी को पीएम का नया तोहफा, गोवा शिपिंग यार्ड से निकल चुका है क्रूज

वाराणसी (डीवीएनए)। क्रूज राजघाट से अस्सी घाट के बीच चलेगा, जिसके जरिए दशाश्वमेध घाट की गंगा आरती के साथ घाटों की संस्कृति से पर्यटकों का परिचय कराया जाएगा, दो मंजिला क्रूज मे दो सौ लोग करेंगे सफर।
गंगा की लहरों से बनारस के विश्व विख्यात घाटों के ठाठ निहारने के लिए पीएम मोदी की तरफ से काशी को एक और नया क्रूज का तोहफा मिलने जा रहा है.दो मंजिला इस क्रूज में सौ यात्री एक साथ सवार होकर गंगा आरती से लेकर घाटों की खूबसूरती का लुत्फ उठा पाएंगे.
इससे पहले से वाराणसी में अलखनंदा नाम का दो मंजिला क्रूज चल रहा है, जिससे खुद पीएम मोदी भी गंगा यात्रा कर चुके हैं. इसके अलावा दो रो-रो यान भी बनारस पहुंच गए हैं. इन दोनो का नाम विवेकानंद और सर मानिकशा है।
गोवा से बनारस के लिए निकल चुका है क्रूज
गोवा शिपिंग यार्ड से अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस ये दो मंजिला क्रूज बनारस के लिए चल चुका है. इस नए क्रूज के 15 से 20 दिसंबर के बीच बनारस पहुंचने की उम्मीद है. क्रूज पहुंचने से पहले तैयारियां तेज हो गई हैं. ये क्रूज अस्सी घाट पर रहेगा. जिसके लिए राजकीय निर्माण निगम ने अस्सी घाट पर जेटी बनाने का काम तेज कर दिया है, जो अब अपने अंतिम चरण में है. जेटी के दोनों छोर लगभग बिछाकर तैयार कर दिए गए हैं.
राजघाट से अस्सी घाट के बीच चलेगा क्रूज
राजघाट से अस्सी घाट के बीच ये क्रूज चलेगा, जिसके जरिए दशाश्वमेध घाट की गंगा आरती के साथ घाटों की संस्कृति से पर्यटकों का परिचय कराया जाएगा. पहले से अलखनंदा क्रूज राजघाट से अस्सी के बीच सुबह और शाम चल रहा है. नया दो मंजिला क्रूज पर्यटन विभाग के प्रसाद योजना के तहत चलाया जाएगा. इसमें करीब 10.71 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं. गोवा से चलकर ये क्रूज केरल, कोलकाता के रास्ते बनारस तक आएगा. इसकी क्षमता करीब सौ सीटों की है.
संवाद राकेश पाण्डेय