August 3, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

पुलिस ने युवक को बेरहमी से पीटा, सिपाहियों के सस्पेंशन की मांग को सड़कों पर आए लोग

रायबरेली। डीवीएनए

पुलिस के थर्ड डिग्री की खबरें आये दिन सामने आ रही हैं। ऐसा ही एक मामला रायबरेली जिले के सरेनी थाना क्षेत्र के भोजपुर चौकी में देखने को मिली जहां एक चोरी के आरोपी को पुलिस ने जमकर पीटा जिसके बाद स्थानीय लोगो का गुस्सा चौकी के पुलिसकर्मियों पर फूटा। आक्रोशित ग्रामीणों ने आरोपी पुलिसकर्मियों के निलंबन की मांग पर अड़े है। 

पुलिस के टार्चर की इन तस्वीरों को गौर से देखिये किस तरह से युवक को थर्ड डिग्री का टार्चर दिया गया है। दरअसल चोरी के झूठे मामले में दो युवकों की बर्बरता पूर्ण पिटाई से नाराज भोजपुर के व्यापारियों व ग्रामीणों ने पुलिस चौकी भोजपुर का घेराव किया और भोजपुर चौकी इंचार्ज प्रशांत भदोरिया सहित दो सिपाहियों को सस्पेंड करने की मांग पर अड़ गए।

व्यापारियों का कहना है कि जब तक तीनों  हटाए नहीं जाएंगे चौकी का  घेराव जारी रहेगा।

उन्नाव जनपद के शुक्लागंज कस्बे के ऋषि नगर मोहल्ले के रहने वाले सोनू सोमवार को शराब के नशे में धुत भोजपुर की सब्जी मंडी में  पड़ा था लोगों ने इसकी सूचना उनके रिश्तेदार भोजपुर गांव के रहने वाले राजू तिवारी  व घर में मौजूद उन्नाव जिले के रामपुर गांव के रहने वाले बबलू को दिया। दोनों सोनू को अपने घर उठा ले गए लेकिन सुबह जब सोनू का नशा उतरा तो उसने आरोप लगाया कि मेरी सोने की चेन व अंगूठी गायब है । 

सोनू ने चौकी इंचार्ज भोजपुर को प्रार्थना पत्र दिया जिस पर पुलिस ने राजू तिवारी को बुलाकर पूछताछ किया लेकिन सोनू की सहमति से दोनों पक्षों में समझौता हो गया। और दोनो अपने अपने गंतव्य की ओर रवाना हो गए।बुधवार को सोनू कि मां रूपरानी भोजपुर आई और दोबारा शिकायती पत्र दिया।
   
इस पर चौकी इंचार्ज व आरक्षी भरत व हरिओम ने दोनों को बुलाकर बर्बरतापूर्वक पिटाई की लेकिन राजू ने कुछ भी कबूलने से इनकार कर दिया जिसके बाद उसे छोड़ दिया गया।   

गुरुवार को जब व्यापारी व ग्रामीणों ने उनकी हालत देखी तो नाराज होकर चौकी का घेराव किया और  दोनों सिपाहियों को सस्पेंड करने की मांग पर अड़ गए।

सूचना पर पहुंचे सरेनी कोतवाल परिजनों से वार्ता कर मामले को सुलझाने की कोशिश में लगे रहे पर मामला शांत नही हो सका। स्थानीय लोगों ने चौकी का घेराव करके काफी हंगामा काटा और आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ नारेबाजी भी की । लोगों का आक्रोश बढ़ता देख तत्काल इसकी सूचना उच्च अधिकारियों को दी गई।  जिस पर कई थानों की पुलिस मौके पर पहुंची और  परिजनों सहित आक्रोशित ग्रामीणों को शांत कराने का प्रयास किया साथ ही चौकी इंचार्ज ओर कार्यवाही की बात कही।
संवाद राकेश पाण्डेय