September 18, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

बाबा साहब डॉ भीमराव अम्बेडकर के सच्चे अनुयाई घर की चार दीवारी में सिमट कर नहीं रह सकते: लक्ष्य

सीतापुर (डीवीएनए)। भारतीय समन्वय संगठन (लक्ष्य) की सीतापुर टीम ने बहुजन जनजागरण अभियान के तहत एक दिवसीय कैडर कैम्प का आयोजन सीतापुर के गांव पूरनपुर मजरे जरावन में किया जिसमें कई गांव की महिलाओं व युवाओं ने बढ़चढ़कर हिस्सा लिया |

लक्ष्य की महिला कमांडरों के कैडर कैम्पो में उमड़ती बहुजन समाज की महिलाओं व युवाओं की संख्या लक्ष्य कमांडरों के बढ़ते क़दमों की ओर इशारा करती है, हो भी क्यों ना, लक्ष्य की ये महिला कमांडर दिनरात बहुजन समाज को जागरूक करने में जुटी हुई है और उनके सुख दुख में साथ खड़ी रहती है |

अगर हम अपने महापुरुषों के संघर्ष का अच्छे से अध्ययन कर ले तो हमें पता चलेगा कि उन्होने बहुजन समाज को ही अपना परिवार समझा और उन्होंने समाज के दुख दर्द को अपना दुख दर्द समझा तथा बहुजन समाज के लोगों के लिए अपना जीवन न्योछावर कर दिया | उनके संघर्ष के बीच में कभी भी कोई उनका निजी स्वार्थ नहीं आया, वे ईमानदार थे तो इसलिए उनका मनोबल भी मजबूत था और वे अपने संघर्ष में कामयाब हुए, इसलिए वे आज अमर है महापुरुष है।

जबकि इसके विपरीत आज बहुजन समाज, लालची दलाल स्वार्थी नेताओं से भरा पड़ा है, इन्ही खूबियों के कारण वे चापलूस व गुलाम प्रवृति के है। जो समाज के अधिकारों के लिए कोई संघर्ष नहीं करते है तथा इनका बहुजन हित में कोई त्याग नहीं है, ऐसे लोगों का हमें बहिष्कार करना चाहिए और सामाजिक जागरूकता करके हमें समाज उत्थान के आंदोलन की कमान अपने हाथों में लेनी चाहिए, तभी जाकर बहुजन समाज के लोगों का भला हो सकता है। बाबा साहब डॉ भीमराव अम्बेडकर के सच्चे अनुयाई घर की चार दीवारी में सिमट कर नहीं रह सकते है यह बात लक्ष्य की महिला कमांडरों ने अपने संबोधन में कही |

कैडर कैम्प में आई महिलाओं ने लक्ष्य की महिला कमांडरों के प्रयासों की भूरि भूरि प्रशंसा करते हुए उनके साथ जुड़कर इस सामाजिक आंदोलन को मजबूत करने की शपथ ली |

इस कैडर कैम्प में लक्ष्य कमांडर रेखा आर्या, संघमित्रा गौतम, विजय लक्ष्मी गौतम, नीलम चौधरी, मुन्नी बौद्ध, देवकी बौद्ध, लक्ष्य युथ कमांडर कंचन नैना, कुलदीप बौद्ध, विनय प्रेम,विजय बौद्ध ने हिस्सा लिया । अम्बेडकर युवा धम्म चेतना – पूरनपुर मजरे जरावन, की कमेटी मुख्य रूप से इस कैडर कैम्प की आयोजक रही।