September 23, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

पुलवामा शहीद कौशल रावत का गांव विकास कार्य से अछूता

आगरा (डीवीएनए )। पुलवामा में आगरा के शहीद कौशल कुमार रावत के गांव में विकास के नाम पर मजाक उड़ा रहे हैं. कहरई गांव के शहीद कौशल कुमार रावत के परिजन उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के बयानों से आहत हैं।

शहीद के भाई पूर्व सैनिक सत्य प्रकाश रावत ने आलोचना करते हुए कहा है कि शहीद स्थल तक जाने के मार्ग जर्जर हालत में पड़े हुए हैं। आसपास गंदगी का साम्राज्य है 6 माह पूर्व बनाई गई सड़क है। उखड़ने लगी हैं। सांसद हो या विधायक किसी ने भी ₹1 शहीद के सम्मान में प्रतिमा स्थल या मार्गो में आज तक ₹1 भी नहीं लगाया है।

सरकार में बैठे नुमाइंदे विकास की गंगा बहाने के नाम पर वाहवाही लूट रहे हैं। शहीद स्मारक का कार्य भी अधूरा पड़ा है जिसे परिजन अपने निजी जमीन पर स्वयं के धन से बनवा रहे हैं। प्रशासन का अधिकारी लंबे चौड़े वादे कर चले जाते हैं बाद में मुड़कर नहीं देखते हैं शहीद के निवास के सामने नर्क बना हुआ है यह किसी को दिखाई नहीं दे रहा है शहीद की मां सुधा रावत ने प्रशासन के प्रति रोज व्यक्त करते हुए कहा है कि हम तो बड़ी उम्मीद लगा बैठे थे कि सरकार शहीद के सम्मान में विकास की गंगा बहेगी मगर हम आज उसी नरक में जी रहे हैं सांसद महोदय भव्य द्वारका भरोसा दिला कर गए थे मगर भाभी द्वार का अभी तक कोई अता पता नहीं है शहीद के भाई कमल कुमार रावत ने रोष व्यक्त करते हुए कहां है। के शहीदों के नाम पर सरकार लंबे चौड़े बातें करना बंद करें जमीनी स्तर पर कुछ नहीं कर सकती है तू गांव आने वाला मार्ग दोनों तरफ से बदहाल पड़ा है तालाब के आसपास गंदगी का साम्राज्य है पुलिया टूटी पड़ी है।

हमारे मकान के पास सरकारी स्कूल मैं तालाब बना हुआ है। उप मुख्यमंत्री महोदय सर्किट हाउस में बैठकर लोकार्पण कर रहे हैं पूरे इतना भी समय नहीं है कि मौके पर आकर शहीदों के प्रति गांव में जाकर विकास कार्य को देख ले यह शहीदों के साथ गौर मजाक किया जा रहा है पूर्व सैनिक संगठन के पदाधिकारी राजेंद्र सिंह कैप्टन महेश चाहर वीर बहादुर राजन मेहरा सेना मेडल प्रताप सिंह चाहर रामदेव उपाध्याय मनोज दीक्षित आदि ने सरकार के रवैए के प्रति रोष व्यक्त किया है।
संवाद , दानिश उमरी