July 29, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

गुमशुदगी दर्ज कराने वाली बेटी ही निकली हत्यारिन, प्रेमी संग मिलकर की थी पिता की हत्या

महाराजगंज (डीवीएनए)। बृजमनगंज थाना क्षेत्र के बनगढिया पेट्रोल पम्प के पास पवहनाला से मिले शव के मामले में पुलिस ने जो खुलासा किया है उसके अनुसार बेटी ने ही अपने प्रेमी के साथ मिलकर अपने पिता की हत्या कर शव को ठिकाने लगाया था, पुलिस ने दोनों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।
इस मामले का खुलासा करते हुए पुलिस अधीक्षक प्रदीप गुप्ता ने पत्रकार वार्ता बताया कि 1 दिसम्बर को बनगढिया पेट्रोल पम्प के पास पवह नाला से एक शिव मिला था, जिसकी शिनाख्त हसबुद्दीन पुत्र हुसैन अली निवासी नयनसर टोला भरतपुर थाना बृजमनगंज के रूप में हुई थी, मृतक की बेटी सबीना के तहरीर पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर विवेचना शुरू किया, विवेचना के दौरान पता चला कि हसबुद्दीन की सात बेटियों में सबसे बड़ी बेटी सबीना खातून का प्रेम प्रसंग उसी गांव के राजेन्द्र चैधरी से काफी दिनों से चल रहा है, मृतक अपनी जमीन पूर्व में औने पौने दामों में बेच चुका था, बची हुई डेढ़ एकड़ आम के बाग को भी बेचना चाहता थे जो सबीना खातून को नागवार लगता था, बाप-बेटी के बची अक्सर विवाद होता था,जिससे खिन्न होकर बेटी ने अपने प्रेमी के साथ मिलकर 25 नवम्बर को रात्रि में हसबुद्दीन की सोते समय तकिया से मुंह एवं गला दबाकर हत्या कर दिया और शव को चैकी के नीचे छिपा दिया, दूसरे दिन 26 नवम्बर को रात्रि में चोरी से सबीना खातून की मदद से राजेन्द्र ने शव को अपने कंधे पर रखकर सिवान के रास्ते ले जाकर बनगढिया पेट्रोल पम्प के बगल पवह नाले में फेक दिया।
उन्होन कहा कि इस मामले में सुनियोजित तरीके से 28 नवम्बर को बृजमनगंज थाने में सबीना ने गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज करायी थी, विवेचना में तमाम साक्ष्य संकलन एवं पुष्ट साक्ष्य मिलने पर अभियुक्ता सबिना खातून व अभियुक्त राजेन्द्र को पुलिस टीम ने बनगढिया चैराहे से 10 दिसम्बर को गिरफ्तार कर लिया, पूछताछ में दोनों ने अपना जुर्म स्वीकार किया है।
आला कत्ल व एक अदद तकिया सील किया गया है, गिरफ्तार करने वाली पुलिस टीम में थानाध्यक्ष संजय दूबे, हेड कांस्टेबल प्रेमशंकर दूबे, कांस्टेबल शिवेन्द्र शाही, सुशील उपाध्याय व अनुराधा शुक्ला शामिल रहे।