September 19, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

सरकार युवाओं को रोजगार के अधिक से अधिक अवसर मुहैया कराने के लिए संकल्पबद्ध: CM योगी

लखनऊ (डीवीएनए)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि राज्य सरकार युवाओं को रोजगार के अधिक से अधिक अवसर मुहैया कराने के लिए संकल्पबद्ध है। इसके लिए मिशन रोजगार के अन्तर्गत विभिन्न विभागों, संस्थाओं एवं निगमों आदि के समन्वित प्रयास से प्रदेश के नौजवानों को रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा। राज्य सरकार द्वारा 04 वर्षाें में 04 लाख नौजवानों को रोजगार उपलब्ध कराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है, जिसकी प्राप्ति के लिए निरन्तर प्रयास किये जा रहे हैं। राज्य सरकार की नीति है कि पूरी निष्पक्षता, पारदर्शिता एवं भेदभाव रहित ढंग से विभिन्न पदों के लिए भर्ती प्रक्रिया पूर्ण की जाए। प्रदेश सरकार द्वारा युवाओं का चयन एवं पदस्थापन उनकी योग्यता और क्षमता के आधार पर किया जा रहा है, जिससे उनकी ऊर्जा और कौशल का प्रदेश के विकास के लिए पूरा उपयोग किया जा सके।
मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग द्वारा सिंचाई एवं जल संसाधन विभाग के नवचयनित 3,209 नलकूप चालकों को नियुक्ति पत्र वितरण, पदस्थापन एवं संवाद कार्यक्रम का शुभारम्भ करने के पश्चात अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने कहा कि पहली बार नलकूप चालकों की भर्ती में 516 महिलाओं का भी चयन हुआ है। सभी चयनित अभ्यर्थियों को एक माह का प्रशिक्षण देने की व्यवस्था की गयी है। इस अवसर पर उन्होंने नवचयनित नलकूप चालकों शोभित शुक्ला, सुजीत नारायण, अरुण कुमार, ख्याति शर्मा एवं कंचन निषाद को चयन एवं पदस्थापन का प्रमाण पत्र प्रदान किया।
मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम के दौरान वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से विभिन्न जनपदों के नवचयनित एवं पदस्थापित नलकूप चालकों से संवाद किया। उन्होंने जनपद प्रयागराज के प्रदीप कुमार पटेल, जनपद कानपुर की शिवानी पाल, जनपद आगरा की सोफिया, जनपद बरेली के अर्जुन कुमार, जनपद वाराणसी के राहुल पाल, जनपद गोरखपुर के आदित्य कुमार सिंह, जनपद उरई की अर्चना समाधिया, जनपद अयोध्या की पारुल मौर्या, जनपद रामपुर के परमजीत सिंह, जनपद प्रतापगढ़ के विनोद कुमार मिश्र तथा जनपद सहारनपुर के विकास कुमार से संवाद किया।
मुख्यमंत्री ने संवाद के दौरान निष्पक्ष और पारदर्शी चयन और पदस्थापन के लिए सभी अभ्यर्थियों और उनके परिवारजनों को बधाई और शुभकामनाएं दीं। उन्होंने नवचयनित अवर अभियन्ताओं से पूछा कि चयन व पदस्थापन प्रक्रिया के दौरान उन्हें किसी प्रकार के लेनदेन, सिफारिश अथवा भेदभाव का सामना तो नहीं करना पड़ा? मुख्यमंत्री को सभी अभ्यर्थियों से नकारात्मक उत्तर मिला। मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता द्वारा अच्छे जनप्रतिनिधियों और सरकार का चुनाव किये जाने पर निष्पक्ष और पारदर्शी ढंग से ही कार्य सम्पादन किया जाता है। उन्होंने भरोसा जताया कि जिस निष्पक्षता व पारदर्शिता के साथ अभ्यर्थियों का चयन एवं पदस्थापन हुआ है, समस्त चयनित अभ्यर्थीगण भी उसी प्रकार पूरी निष्ठा, तन्मयता एवं प्रतिबद्धता के साथ कार्य सम्पादन करेंगे।
मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान सरकार किसानों के हितों के लिए कार्य कर रही है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने वर्ष 2022 तक किसानों की आय को दोगुना करने का लक्ष्य तय किया है। इसके लिए प्रधानमंत्री के नेतृत्व में खेती से लेकर बाजार तक एक बेहतरीन व्यवस्था स्थापित की गयी है, जिससे किसानों को शोषण से मुक्ति मिली है। उन्होंने कहा कि किसानों को समय से खाद, पानी उपलब्ध कराया जा रहा है। उनकी जमीन का मृदा परीक्षण किया जा रहा है, जिससे मृदा के स्वास्थ्य की जानकारी किसानों को मिलती है। इसके अनुरूप वे अपनी खेती करते हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री जी ने एम0एस0पी0 के माध्यम से किसानों के हितों की रक्षा की है, जिससे आज किसान खुशहाल हैं। उन्होंने कहा कि 2 करोड़ 20 लाख किसानों को ‘प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि’ की राशि डी0बी0टी0 के माध्यम से उनके खातों में उपलब्ध करायी गयी है। प्रदेश में 34,000 नलकूप हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में लगभग 23 लाख हेक्टेयर क्षेत्र का सिंचन नलकूप के माध्यम से किया जाता है। ऐसे में नलकूप चालकों की भर्ती एक महत्वपूर्ण पड़ाव है। प्रदेश में पहली बार नलकूप चालकों की अर्हताएं आई0टी0आई0 पास निर्धारित करते हुए उनकी भर्ती उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के माध्यम से की गयी है। उन्होंने कहा कि किसी कार्य के सम्पादन में तकनीक का विशेष महत्व है। उन्होंने कहा कि वर्तमान सरकार ने ग्रामीण क्षेत्रों में विद्युत आपूर्ति की व्यवस्था को सुदृढ़ करने का कार्य किया है। इसके साथ ही, ट्रांसफाॅर्मर खराब होने की दशा में एक समय-सीमा के अन्दर दुरुस्त कराने की व्यवस्था की गयी है।
मुख्यमंत्री ने नवचयनित नलकूप चालकों से आह्वान किया कि वे जिस पद पर नियुक्त हुए हैं, वह अत्यन्त महत्वपूर्ण है। यह पद नौकरी के साथ-साथ सेवाभाव व जमीन से जुड़ा कार्य है। उन्होंने कहा कि जल संरक्षण करके ही हम आने वाली पीढ़ी को एक बेहतर भविष्य दे सकते हैं। इसलिए ‘वन ड्राॅप, मोर क्राॅप’ के प्रति भी किसानों को जागरूक किये जाने की आवश्यकता है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान सरकार ने 04 लाख से अधिक लोगों को राजकीय सेवाओं में योजित करने का काम किया है। उन्होंने कहा कि 15 लाख से अधिक लोगों को निजी क्षेत्र में तथा लगभग 1.5 करोड़ लोगों को स्वरोजगार से जोड़ने का कार्य वर्तमान राज्य सरकार ने किया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा 1.37 लाख पुलिस भर्ती, लगभग 01 लाख सहायक अध्यापकों की भर्ती की गयी है। इसके साथ ही अन्य सभी विभागों में भी भर्ती प्रक्रिया की जाएगी।
कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए जल शक्ति मंत्री डाॅ0 महेन्द्र सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री के नेतृत्व में जल शक्ति विभाग तेजी से कार्य कर रहा है।
सचिव सिंचाई एवं जल संसाधन अनिल गर्ग ने सभी के प्रति धन्यवाद ज्ञापित किया।
इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव आर0के0 तिवारी, अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 एवं सूचना नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव सिंचाई एवं जल संसाधन टी0 वेंकटेश, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना संजय प्रसाद सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।