May 11, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

तिहरा हत्या कांड: पुलिस चला रही अंधेरे में तीर, कुर्की संभव

बांदा।(डीवीएनए) तिहरे हत्याकांड के मास्टर माइंड समेत फरार पांच आरोपियों की गिरफ्तारी में लगी पुलिस की सभी पांच टीमेंअभी तक हवा में ही हाथ-पांव मार रहीं हैं। उनके तरकश के सारे तीर अंधरे में ही चलने से अभी तक नाकामी ही हाथ लगी हैं। मास्टर माइंड हिस्ट्रीशीटर हत्यारोपी जल्द नहीं पकड़ा गया तो पुलिस कुर्की की कार्रवाई के लिए न्यायालय की शरणागत हो सकती है। फिलहाल पुलिस को उम्मीद है कि सर्विलांस टीम के सहयोग से फरार हत्यारोपी शीघ्र हामारी गिरफ्त में होगें।
शहर के परशुराम तालाब चमरौडी में कांस्टेबल अभिजीत , उसकी मां रमा देवी और बहन निशा की 20 नवंबर की रात करीब 11 बजे चचेरे भाइयों और उनके रिश्तेदारों ने कुल्हाड़ी और डंडों से पीटकर हत्या कर दी थी।
कांस्टेबल के भाई और पीएसी के प्रशिक्षु जवान सौरभ वर्मा ने कोतवाली नगर में 15 नामजद और दो अज्ञात के विरुद्ध रिपोर्ट दर्ज कराई थी। घटना के दूसरे दिन शाम को पुलिस ने तीन चचेरे भाइयों और भाभियों समेत 10 नामजद हत्यारोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था, लेकिन मास्टर माइंड और हिस्ट्रीशीटर सोमचंद्र और उसके भाई धर्मेंद्र सहित पांच हत्यारोपी पुलिस के हत्थे नहीं लग सके।
सभी फरार हैं। कोतवाली नगर, एसओजी, सर्विलांस और क्राइम ब्रांच सहित पुलिस की पांच टीमें इनकी तलाश में जुटी हैं, लेकिन अब तक कोई सफलता हाथ नहीं लगी। घटना के बाद से फरार मास्टर माइंड सोमचंद्र समेत धर्मेंद्र, राज उर्फ गोपी, सूरज व महिला शिववती और दो अज्ञात की शीघ्र गिरफ्तारी न होने पर पुलिस कुर्की कार्रवाई के लिए न्यायालय की शरण में जा सकती है।
कोतवाली नगर प्रभारी निरीक्षक राजीव कुमार ने बताया कि गिरफ्तारी में सफलता न मिलने पर हत्यारोपियों की कुर्की कार्रवाई के लिए अदालत से आग्रह किया जाएगा। हालांकि उन्होंने उम्मीद जताई कि जल्द फरार हत्यारोपी गिरफ्तार कर लिए जाएंगे। दबिशें दी जा रही हैं।
संवाद- विनोद मिश्रा