October 27, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

नामांकन कराने से पहले सपा की साइकिल में पंचर, भाजपा की डॉ.शैफाली बनीं जिला पंचायत अध्यक्ष

मुरादाबाद (DVNA)। जिले में कुल जिला पंचायत सदस्य 36, इनमें भाजपा पर मात्र नौ और गढ़ भी सपा अर्थात साइकिल का, लेकिन भाजपा ने ऐसा चक्रव्यूह तैयार किया कि कोई दरबें से निकल कर ही नहीं आया जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए नामांकन कराने को। ऐसे में भाजपा की डॉ. शैफाली बिना लड़े ही जिला पंचायत अध्यक्ष बन गईं।

मुरादाबाद जिले में बहुजन समाज पार्टी के 11, समाजवादी पार्टी के 10, भाजपा के नौ, निर्दलीय चार के अलावा आम आदमी पार्टी व एआईएमआइएम के एक एक सदस्य जिला पंचायत सदस्य थे। ऐसे में स्पष्ट था कि भाजपा के लिए जिला पंचायत अध्यक्ष की सीट दूर की कौड़ी थी लेकिन बसपा ने अध्यक्ष पद से किनारा करते हुए पार्टी प्रत्याशी उतारने से मना कर दिया था। ऐसे में समाजवादी पार्टी के नेता शुरू से ही दमखम भर रहे थे और दावा कर रहे थे कि सपा का प्रत्याशी ही मुरादाबाद में जिला पंचायत अध्यक्ष बनेगा मगर शनिवार को उल्टा हुआ।

जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए सुबह से नामांकन शुरू हुआ लेकिन सपा का प्रत्याशी दूर तक नजर नहीं आ रहा था जबकि सपा कार्यालय पर भी जोश और जुनून के बजाए विरोध के स्वर दिखाई दे रहे थे क्योंकि पार्टी द्वारा घोषित प्रत्याशी अमरीन दूर तक नजर नहीं आ रही थी। सपा के जिला कार्यालय पर दोपहर 2:50 बजे तक जिलाध्यक्ष जयवीर यादव ही नहीं पहुंचे थे, जबकि तीन बजे तक का समय नामांकन के लिए अंतिम निर्धारित था।

ऐसे में सपा कार्यालय पर एकत्रित सपाई आपस में लड़ते, हंगामा करते और अपनी भड़ास निकालते दिखाई दिए। कुछ तो यह भी कहते सुने गए कि बाप बड़ा न भैया सबसे बड़ा रुपया की तर्ज पर साइकिल के कर्ताधर्ता हो गए और बिना लड़े ही मैदान ए जंग छोड़ दिया और चारों खाने चित्त हो गए।

फिलहाल, मुरादाबाद से पहली बार भाजपा की डॉ. शैफाली निर्विरोध जिला पंचायत अध्यक्ष बनीं और उन्होंने नया रिकार्ड कायम कर दिया। इससे भाजपाइयों के हौंसले बुलंद हैं क्योंकि नामांकन का समय समाप्त हो गया और अब सिर्फ औपचारिक घोषणा होना बाकी रह गया है।