October 25, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

खुलासा: पत्नी नें ही प्रेमी के साथ मिलकर की थी पति की हत्या

बाँदा-डीवीएनए। पुलिस प्रयास सफल हो गया और उसके साथ ही हत्या का पर्दाफाश हुआ। यह खुलासा चौंकाने वाला हैं क्योकि पत्नी नें ही अपने प्रेमी के साथ पति की हत्या की थी। मामला थाना जसपुरा क्षेत्र का है।पुलिस को हत्या के खुलासे में तीन दिन लग गये।
बता दें कि 20 जून को थाना क्षेत्र के बुधेड़ा गांव के पास नदी किनारे शिवनारायण निषाद पुत्र स्वर्गीय रधुवीर निषाद का शव हाथ पैर बंधे हुए तथा हाथ पैरों के बीच डंडा डला हुआ पाया गया था।
इससे यह तो स्पष्ट हो गया था कि शिवनारायण निषाद की हत्या हुई हैं।मृतक के बेटे दीपक के द्वारा अज्ञात लोगों के विरुद्ध तहरीर दी गई थी।वही पुलिस के लिए यह हत्या का राज चुनौतीपूर्ण था क्योंकि मृतक की किसी से कोई रंजिश नही थी। मृतक के 18 वर्षीय बेटे दीपक की तहरीर पर अज्ञात लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा पंजीकृत किया गया था।विवेचना के दौरान जसपुरा थाना प्रभारी सुनील कुमार सिंह ने शव मिलने के स्थान एवं घटना स्थल तक मृतक का घर ही प्रकाश में आया,जब विवेचक द्वारा घटना के अनावरण कर लिए मृतक के परिजनों के बयान लिये गए तो घटना वाले दिन मृतक का बेटा,अविवाहित बेटी,विवाहित बेटी तथा दामाद वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल होने के लिए पैलानी थाना क्षेत्र के अमलोर गांव गए हुए थे, घर में केवल शिवनारायण व उसकी पत्नी दुलारी ही थी।उसी रात को शिवनारायण अपने परिवार के ही एक घर में तेल पूजन कार्यक्रम में गया हुआ था। दुलारी कार्यक्रम में नही गई थी। वह घर में ही थी। गांव के ही उसके प्रेमी जगभान सिंह ऊर्फ पुतुवा पुत्र गुलबदन सिंह को यह पता था कि आज उसकी प्रेमिका दुलारी के घर में कोई भी नहीं है।पुलिस को गांव के लोगो ने बताया कि शिवनारायण जगभान के खेत जोतता था। जिस वजह से उसका उनके घर मे अक्सर आना जाना लगा रहता था। उन दोनों के बीच में अवैध संबंध बन गए थे।
शिवनारायण विरोध भी करता था और इस साल उसने जगभान के खेत भी नही लिए थे।जगभान भी उस दिन खप्टिहा कलाँ निमंत्रण में गया था।लौटकर गांव के ही भोला निषाद के घर रुका था। भोला के घर से निकल कर जगभान रात को करीब 9 बजे शिवनारायण के घर गया जब वह घर पर नही था।तेल पूजन कार्यक्रम से शिवनारायण जल्दी घर पहुँच गया और जगभान व अपनी पत्नी दुलारी को आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया तो पत्नी को मारने लगा व जगभान को गाली गलौज दी।जगभान व दुलारी ने धक्कामार कर शिवनारायण को चारपाई में गिरा दिया और गला दबाकर उसकी हत्या कर दी ।
हत्या के बाद शिवनारायण के शव को चरपाई के नीचे डालकर जगभान अपने घर 11 बजे पहुँच गया।रात्रि करीब 2 बजे वह पुनः शिवनारायण के घर पहुँचा और उसके हाथ पैर बांध कर बीच मे डंडा डाल दिए। डंडा के सहारे उठाकर दोनों नदी के किनारे ले गए और उसको पानी मे फेक दिया।दो दिन बाद शिवनारायण का शव मिला था।
पुलिस अधीक्षक अभिनन्दन ने हत्या का खुलासा करने वाली टीम को 25 हजार रुपए का नगद इनाम दे कर पुरस्कृत किया। टीम में सुनील कुमार सिंह थानाध्यक्ष,कांस्टेबल शुभम सिंह,सौरव यादव,अमित त्रिपाठी तथा महिला कांस्टेबल संगीता वर्मा व अमरावती शामिल थीं।
संवाद विनोद मिश्रा