October 17, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

यमुना एक्सप्रेस वे पर चैकिंग कर रही GST टीम को ट्रक ने रौंदा, कार में बैठे सेल्स टैक्टस के सीपीओ और एक सिपाही की मौत

मथुरा (डीवीएनए)। बुधवार गुरूवार की मध्यरात्रि को यमुना एक्सप्रेस वे के माइल स्टोन 60 के समीप चैकिंग कर रही जीएसटी टीम गंभीर हादसे का शिकार हो गई। पूरी टीम कार में थे। रात के समय एक ट्रक ने अधिकारियों की कार को रौंद दिया। पुलिस अधीक्षक देहात श्रीचंद के अनुसार पुलिस ने आयशर कैंटर की नंबर प्लेट के आधार पर उसके मालिक का नाम पता ज्ञात किया जा रहा है। इस घटना की जानकारी मिलते ही एसएसपी डॉ गौरव ग्रोवर सहित अन्य अधिकारी मौके पर पहुंच गए। पुलिस ने आयशर कैंटर को जब्त कर लिया है।
हादसे में सरकारी गाड़ी में सवार ज्वाइंट कमिश्नर मनोज त्रिपाठी, असिस्टेंट कमिश्नर सचल दल द्वितीय ईकाई वाणिज्यकर मथुरा विनय गुप्ता पुत्र अशोक कुमार गुप्ता निवासी अशोका सिटी मथुरा, सीपीओ सचल दल द्वितीय इकाई वाणिज्यकर मथुरा वीरेन्द्र सिंह पुत्र कृपानाथ सिंह, सिपाही किशोर कुमार शुक्ला पुत्र महेश कुमार शुक्ला सचल दल प्रथम ईकाई मथुरा मूल निवासी जनपद कानपुर, चालक विजय कुमार यादव पुत्र बीरेन्द्र सिंह यादव सचल दल द्वितीय ईकाई मथुरा उम्र करीब 46 वर्ष निवासी बी.53 विवेक बिहार कालोनी इटावा, चपरासी विनोद कुमार पुत्र राजाराम सचल दल द्वितीय ईकाई मथुरा निवासी जालवा कटरा, आगरा, अनिल रावत पुत्र स्व. महेश रावत निवासी मानपुर मुसन्डा थाना मानपुर जिला गया, बिहार घायल हो गये। घटना स्थल पर अफरातफरी मच गई। कुछ ही समय में इलाका पुलिस और एम्बूलेंस पहुंच गई। सभी घायलों को एम्बूलेन्स से कैलाश हास्पीटल जेवर गौतमबुद्ध नगर भेजा गया। नौहझील पुलिस के मुताबिक इलाज के दौरान सीपीओ वीरेन्द्र सिंह एवं सिपाही किशोर कुमार शुक्ला की मृत्यु हो गई। मृतकों के शव को कब्जे में लेकर थाना नौहझील पुलिस ने पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया था। दुर्घटना से विभाग में हडकंप मचा हुआ है।
संयुक्त आयुक्त की हालत गंभीर
वाणिज्य कर विभाग के संयुक्त आयुक्त मनोज त्रिपाठी की इलाज चल रहा है। बताया जा रहा है कि अधिकारी की स्थिति काफी गंभीर है उनका इलाज फोर्टिस अस्पताल में किया जा रहा है। परिजनों के मुताबिक वह कोमा में चले गए हैं वेंटिलेटर पर उनको रखा गया है। दूसरे घायलों में भी कई की ालत गंभीर है। इस घटना से प्रदेश सरकार सकते में आ गई है।