October 25, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

कोरोना टेस्ट घोटाले की न्यायिक जांच की मांग को लेकर आप कार्यकर्ताओं ने निकाला पैदल मार्च

हरिद्वार-डीवीएनए। कुंभ में हुए कोरोना टेस्ट घोटाले की न्यायिक जांच की मांग को लेकर आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओं ने चन्द्राचार्य चैक से देवपुरा चैक तक पैदल मार्च निकालकर प्रदर्शन किया। इस दौरान कार्यकर्ताओं ने घोटाले की न्यायिक जांच के साथ सीएम के इस्तीफे की भी मांग की। प्रदर्शन के दौरान प्रदेश उपाध्यक्ष ओपी मिश्रा ने कहा कि कुंभ विश्वस्तीय धार्मिक पर्व है। कुंभ में कोरोना जांच घोटाले से विदेशों में भी भारत की साख का बट्टा लगा है। ओपी मिश्रा ने कहा कि स्वास्थ्य मंत्रालय को मुख्यमंत्री स्वयं देख रहे हैं। इसलिए उन्हें नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए पद से इस्तीफा देना चाहिए।
मिश्रा ने आरोप लगाया कि बीजेपी सरकार में हुए घोटाले में अधिकारियों और भाजपा नेताओं की भूमिका भी सामने आ रही है। आप नेता ने कहा कि इतने बड़े घोटाले की सिटिंग जज की अध्यक्षता में न्यायिक जांच होनी चाहिए। बिना किसी दबाव के जांच को जल्द पूरी कर दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाए। इसके साथ ही सरकार को पूरे प्रदेश में कोरोना जांच ऑडिट कराना चाहिए।
पूर्व जिलाध्यक्ष हेमा भण्डारी ने कहा कि बीजेपी नेता आपदा में भी अवसर ढूंढ रहे हैं। भाजपा सरकार में केवल चेहरा बदला है चरित्र नहीं। सरकार पूरी तरह घोटालों में डूब चुकी है। सरकार के घोटालों को उजागर करने के लिए आप कार्यकर्ता पूरे प्रदेश में भाजपा जनप्रतिनिधियों के घरों के बाहर घड़े फोड़ कर प्रदर्शन करेंगे। जिला सचिव अनिल सती ने कहा कि कोरोना महामारी से निपटने में सरकार पूरी तरह नाकाम रही है। बीजेपी सरकार ने एक तरफ जनता के सामने झूठे आंकड़े रखकर जनता को गुमराह करने की कोशिश की, तो वहीं दूसरी तरफ इनके अधिकारी और नेताओं ने मिलकर इतने बड़े घोटाले को अंजाम दिया। प्रदेश प्रवक्ता महक सिंह सैनी ने कहा कि जिस फर्म को सरकार ने जांच के लिए अनुबंधित किया था। उसी से मिलकर नेताओं और अधिकारियों ने कोरोना टेस्ट के नाम पर फर्जीवाड़ा किया। उन्होंने आरोप लगाया कि फर्जी नेगेटिव जांच रिपोर्ट के इस खेल में सरकार ने देश विदेश से आए लाखों यात्रियों का जीवन खतरे में डाल दिया और पूरे देश में कोरोना संक्रमण फैलाने की जमीन तैयार की। जिसकी कीमत हजारों लोगों ने अपनी जान देकर चुकाई। जिला संगठन मंत्री नवीन मारया ने कहा कि मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को तत्काल इसकी जिम्मेदारी लेते हुए अपने पद से इस्तीफा देना चाहिए और बीजेपी को प्रदेश की जनता से माफी मांगनी चाहिए।
पैदल मार्च में ओपी मिश्रा, अनिल सती, हेमा भण्डारी, नवीन मारया, महक सिंह सैनी, सचिन बेदी, तनुज शर्मा, अर्जुन सिंह, देवेंद्र सिंह कठैत, शिशुपाल सिंह नेगी, यशपाल सिंह चैहान, अम्बरीष गिरी, संजू नारंग, राकेश यादव, गीता देवी, पवन कुमार धीमान, ब्रह्म सिंह धीमान, सुनील मित्तल, अमरीश गिरी, अमित चैधरी, पवन ठाकुर, फिरोज, सुजीत गुप्ता, ऋतु सिंह, महावीर, नवीन चंचल, प्रशांत राय, पवन कुमार, संजू नारंग, यशपाल चैहान, डा.जातिराम, आजम भारती, डा.युसूफ, विकास सैनी, ममता सिंह, सुरेश कुमार आदि कार्यकर्ता उपस्थित रहे।