August 5, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

डीएम साहब सावधान, वन विभाग पौध रोपण में है बेइमान

बांदा-डीवीएनए। डीएम आनंद सिंह ष्सावधानष् क्योकि बांदा का वन विभाग पौध रोपड़ में बहुत है ष्बेइमानष्! इसके चलते जांच और न्यायालय के चक्कर में फंसा निकल भागने की जुगत में है। अब उसके लिये फिर योगी सरकार के खजाने को लूटने का मौसम आ गया है। जिले में वर्ष 2021-22 में 44,53,220 लाख पौधों का रोपण होना है। वन विभाग ने गड्ढे की खोदाई जो असली कमाई का जरिया है और जीओ टैंगिग पूरी कर ली है। विभाग की 19 पौधशालाओं में 58,12,965 पौधे विभिन्न प्रजातियों के उपलब्धहोने का दावा है। इस बार शीशम, सागौन, अमरूद, अर्जुन, इमली, आंवला, जामुन, नीम, बांस और सहजन के पौधे तैयार किए जाने की बात हाँकी जा रही है। स्थलीय गिनती करने की जहमत भला कौन उठाना चाहेगा यह लुटेरे अच्छी तरह जानते हैं।
जिला वृक्षारोपण समिति की बैठक में डीएम आनंद कुमार सिंह ने निर्देश तो दे दिये हैं की वन विभाग इस बार 10,68000 और अन्य विभाग 33,85,250 पौधों का रोपण करेंगे। इस वर्ष जो भी जीओ टैंगिग की जाएगी वह क्विक कैप्चर एप के माध्यम से होगी।लक्ष्य के मुताबिक कार्ययोजना बनानें को भी कहा है।
पर हम यहां डीएम साहब को बता दे की बांदा का वन विभाग पौध रोपण के नाम पर पर्यावरण का ष्लुटेराष् है। इसका ष्काली हरियालीष् के पन्ने देखें तो सरकारी खजाने को इसने अरबों में ष्डसाष् है। जिले में इतना पौध रोपण इनके आकड़ों में हो चुका है की आनुपातिक प्रणाली में जिले में एक इंच भूमि भी पौध रोपण के लिये खाली नहीं है।फिर होगा आकड़ों में पौध रोपण और मचेगी लूट खसूट! इसलिए डीएम आनंद सिंह पौध रोपण कार्यक्रम में सावधानी है जरूर, क्योकि यहां का वन विभाग आखों से काजल चुरा लेने के लिये है मशहूर!
संवाद विनोद मिश्रा