October 25, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

बढ़ते ईंधन के दामों से खेती पर मंडराने लगे संकट के बादल, ट्रैक्टर मालिकों ने बढ़ाया किराया

लखनऊ (डीवीएनए)। डीजल बढ़ोत्तरी के चलते किसानों ने धान रोपाई के लिए हाथ खड़े कर दिए हैं।क ोरोना काल के संकट में किसान पहले से ही बैंक और साहूकारों से कर्ज लेकर आर्थिक तंगी झेल रहा है ।और अब डीजल के नए दामों ने किसानों को संकट में डाल दिया है ।मौजूदा धान रोपाई का सीजन के चलते ।ट्रैक्टर मालिकों ने भी किराया बढ़ा दिया है।जिससे खेतों की जुताई का भाढ़ा दे पाना छोटे काश्तकारो को मुश्किल हो रहा है ।पिछले कई महीनों से लगातार ईंधन बढ़ोतरी हो रही है। राजधानी के किसानों ने इस बार धान रोपाई ना करने का मन बना लिया।
डीजल की बढ़ती कीमतें किसान मेवा लाल रावत का कहना है कि केन्द्र व राज्य सरकार किसानो के हित को सिर्फ बड़े-बड़े दावे करती है ,आज किसानो के सामने मंहगाई के संकट से खेती किसानी करना मुश्किल हो रहा है। क्षेत्र के किसानों ने बताया कि पिछले साल की अपेक्षा इस वर्ष खेती पर अधिक खर्च हो रहा है पिछले साल एक बीघा खेतों की जुताई करने के लिए नौ सौ रुपए से लेकर एक हजार रुपए तक खर्चा होता था जबकि इस वर्ष 14 से 15 सौ रुपए प्रति बीघा खर्च आ रहा है इसी को लेकर किसान असमंजस में फंसा हुआ है की धान रोपाई की जाए अथवा नहीं इसमें ज्यादातर किसान धान रोपाई करने के लिए इंकार कर दिया डीजल के बढ़ते दामों ने किसानों को खेती करने के लिए सोचने पर मजबूर कर दिया है।
डीजल 88 .66 रुपए पहुंच गया, महंगाई की बढ़ती मार ने लोगों को बीच मझधार में लाकर खड़ा कर दिया है उधर पेट्रोल के बढ़ते दामों।डीजल ,पेट्रोल में लगातार दामों की बढ़ोत्तरी जारी अखिल भारतीय विकास कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष विनोद राय ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र में बैठी मोदी सरकार किसानों पर लगातार अत्याचार कर रही है। महंगाई की चैतरफा मार सिर्फ किसानों पर भारी पड़ रही है। ऐसी स्थिति में देश का किसान कैसे उन्नत कर पाएगा सरकार लगातार डीजल पेट्रोल में बढ़ोत्तरी कर रही हैं ।कहा लेकिन किसानों के अनाज के दामों में बढ़ोत्तरी नहीं कर रही है जो दुर्भाग्यपूर्ण है मोदी के अत्याचारों का जवाब किसान जल्द ही देगा इसके अलावा अखिल भारतीय विकास कांग्रेस पार्टी महंगाई को लेकर व किसानों के हित मे लड़ाई जारी रखेगी ।