August 3, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

परिवार नियोजन के साधनों को अपनाने पर जोर, सीएमओ ने विस्तार से दी जानकारी

आगरा (DVNA)। जिले में कोविड प्रोटोकॉल के पालन के साथ 45 शहरी व ग्रामीण स्वास्थ्य इकाइयों पर खुशहाल परिवार दिवस का आयोजन किया गया। खुशहाल परिवार दिवस पर परिवार नियोजन के साधनों को अपनाने पर जोर दिया गया। छोटा परिवार सुखी परिवार के स्लोगन को धरातल पर उतारने के लिए परिवार को नियोजित करने को स्थायी व अस्थायी साधनों को अपनाने के लिए प्रेरित किया।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. आरसी पांडेय ने बताया कि आशा गृह भ्रमण के दौरान लक्षित समूह के उन दंपत्ति को चिन्हित किया,जो परिवार नियोजन के किसी साधन को नहीं अपना रहे हैं। उनकी काउंसलिंग से लेकर बास्केट ऑफ च्वाइस में मौजूद साधनों से अवगत कराया। इसके अलावा इन साधनों को अपनाने को लेकर भ्रान्ति भी दूर की गई। सेवाओं की उपलब्धता, स्वीकार्यता व प्रोत्साहन राशि की जानकारी देते हुए साधनों को अपनाने के लिए प्रेरित किया गया और साथ में साधनों को उपलब्ध भी कराया गया।

45 स्वास्थ्य इकाईयों पर लक्ष्य दंपत्ति को लाभ दिया
-परिवार नियोजन कार्यक्रम के नोडल अधिकारी डा. विनय कुमार ने बताया कि खुशहाल परिवार दिवस पर नव दम्पत्तियों व प्रसव पश्चात महिलाओं को परिवार नियोजन के साधनों के बारे में विस्तृत जानकारी दी गई। खुशहाल परिवार दिवस पर महिलाओं को अन्तरा, आईयूसीडी,पीपीआईयूसीडी की सुविधा प्रदान की गई।
लेडी लॉयल सहित 30 शहरी और 15 ग्रामीण क्षेत्रों के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र/ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्रों पर खुशहाल परिवार नियोजन दिवस के तहत लक्ष्य दंपति को लाभान्वित किया गया।

-खुशहाल परिवार दिवस में आने वाले नवविवाहित जोड़े की काउंसलिंग की गई है। उन्हें बताया गया कि पहले बच्चे को शादी के दो साल के बाद ही करें। पहले बच्चे के बाद तीन साल का अंतर रखें। इससे मातृ और शिशु मृत्यु दर में कमी आएगी।
डा.मेघना शर्मा, प्रभारी चिकित्सा अधिकारी
जीवनी मंडी

-अंतरा इंजेक्शन परिवार को नियोजित करने का काफी अच्छा माध्यम है। यह तीन महीने में एक बार लगवा सकते हैं। हमने पहली बार इंजेक्शन लगवाया है। इससे हमें कोई परेशानी नहीं आई है। इससे अनचाहे गर्भधारण से छुटकारा मिलता है। गर्भनिरोधक साधनों में सबसे उपयुक्त अंतरा इंजेक्शन को महिलाओं को लगवाना चाहिए।
मंजू, लाभार्थी।

संवाद: दानिश उमरी