August 3, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

प्रदेश सरकार किसानों के हितों के लिए कृतसंकल्प है: नवनीत कुमार सहगल

लखनऊ। अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री जी के 3टी ट्रेस, ट्रैक और ट्रीट अभियान के साथ-साथ आशिंक कोरोना कफ्र्यू तथा टीकाकरण से प्रदेश में कोरोना का संक्रमण नियंत्रण में आ रहा है। प्रदेश में कोविड-19 का संक्रमण अन्य प्रदेशों के अपेक्षा कम है। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी द्वारा आज टीम-9 की समीक्षा बैठक में सभी प्रदेशवासियों से अपील करते हुए कहा कि अभी भी कुछ प्रदेशों में तथा अन्य देशों में कोविड के केस अधिक आ रहे हैं। कोविड-19 का संक्रमण अभी पूरी तरह समाप्त नहीं हुआ है, इसलिए कोविड-19 के प्रोटोकाॅल का पालन करते हुए सावधानी बरती जाए। उन्होंने बताया कि कल 21 जून से आंशिक कोरोना कफ्र्यू में सप्ताह के 05 दिन सुबह 7 बजे से रात्रि 9 बजे तक छूट दी जा रही है। कोविड प्रोटोकाॅल के साथ इस संबंध में विस्तृत गाइडलाइन्स गृह विभाग द्वारा जारी कर दी गई है। उन्होंने कहा कि शनिवार एवं रविवार को साप्ताहिक बंदी के दौरान व्यापक स्तर पर स्वच्छता, सैनिटाइजेशन एवं फॉगिंग की कार्यवाही की जा रही है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में संक्रमण दोबारा न बढ़े इसलिए कोविड नियंत्रण के लिए जारी किए जा रहे प्रोटोकाॅल का सभी लोग पूर्ण रूप से पालन करें। उन्होंने बताया कि कल 21 जून को अन्र्तराष्ट्रीय योग दिवस मनाया जायेगा। लोग घर पर ही रहकर योग करें।
श्री सहगल ने बताया कि द्वारा प्रदेश में सक्रिय मामले कम होने पर भी कोविड-19 के टेस्टों की संख्या में निरन्तर बढ़ोत्तरी की जा रही है, ताकि संक्रमित व्यक्ति की पहचान करके इलाज किया जा सके। उत्तर प्रदेश देश में प्रतिदिन सबसे अधिक टीकाकरण करने वाला राज्य है। कल 21 जून, 2021 से 06 लाख प्रतिदिन टीकाकरण कराये जाने की व्यवस्था की जा रही है। 01 जुलाई से प्रतिदिन 10 लाख टीके लगाये जाने का लक्ष्य रखा गया है जिससे कि अगस्त तक 07 करोड़ टीकाकरण किया जा सके। उन्होंने बताया कि कोविड-19 की सम्भावित तीसरी लहर के दृष्टिगत प्रदेश में अवस्थापना सुविधा बढ़ाई जा रही है। उन्होंने बताया कि संभावित कोविड की तीसरी लहर के तहत सभी मेडिकल कालेज में 100-100 बेड पीआईसीयू के, हर जिला अस्पताल में 20-20 बेड पीआईसीयू के और कम से कम दो सीएचसी में पीकू/नीकू के बेड बढ़ाये जा रहे हैं। उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री जी के निर्देश पर चिकित्सा शिक्षा मंत्री मेडिकल कालेजों में पीकू एवं नीकू बेड की व्यवस्था की समीक्षा करेंगे।
श्री सहगल ने बताया कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा भी आज से 20 जून से लगभग 03 करोड़ 70 लाख परिवारों को मुफ्त में प्रति यूनिट 05 किलो राशन उपलब्ध कराया जा रहा है। इसके साथ-साथ प्रधानमंत्री गरीब अन्न कल्याण’’ योजना के तहत माह नवम्बर तक मुफ्त राशन पात्र लोगों को उपलब्ध कराया जा रहा है।
श्री सहगल ने बताया कि प्रदेश सरकार किसानों के हितों के लिए कृतसंकल्प है और किसानों से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उनकी फसल को खरीदे जाने की प्रक्रिया कोविड प्रोटोकाल का पालन करते हुए तेजी से चल रही है। अब तक गेहँू क्रय अभियान के तहत 12 लाख से अधिक किसानों से 55,93,652.96 मी0 टन गेहूँ खरीदा गया है, जो विगत वर्ष से दोगुना है। मुख्यमंत्री जी द्वारा गेहूँ खरीद अभियान को 22 जून 2021 तक बढ़ा दिया गया है।
अपर मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि मुख्यमंत्री जी के निर्देशानुसार प्रदेश में बड़ी संख्या में टेस्टिंग कार्य करते हुए, टेस्टिंग क्षमता निरन्तर बढ़ायी जा रही है। गत एक दिन में कुल 2,63,769 सैम्पल की जांच की गयी है। कल जनपदों से 01 लाख 16 हजार 244 सैम्पल आरटीपीसीआर के लिए भेजे गये हैं। प्रदेश में अब तक कुल 5,52,64,433 सैम्पल की जांच की गयी है, जो देश में सबसे अधिक है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में पिछले 24 घंटे में कोरोना संक्रमण के 251 नये मामले आये हैं। प्रदेश में विगत 24 घंटे में 561 लोग तथा अब तक 16,77,611 लोग कोविड-19 से ठीक हो चुके हैं। प्रदेश में कोरोना के कुल 4,569 एक्टिव मामले हैं, जिनमें से 2,774 लोग होम आइसोलेशन में हैं। प्रदेश में प्रतिदिन की पाॅजिविटी दर 0.1 प्रतिशत है। प्रदेश में रिकवरी रेट 98.4 प्रतिशत है। उन्होंने बताया कि सर्विलांस की कार्यवाही निरन्तर चल रही है। प्रदेश में अब तक सर्विलांस टीम के माध्यम से 3,58,11,849 घरों के 17,21,75,021 जनसंख्या का सर्वेक्षण किया गया है।
श्री प्रसाद ने बताया कि कोविड वैक्सीनेशन का कार्य निरन्तर किया जा रहा है। प्रदेश में विगत 24 घंटों में 4,41,497 लोगों को वैक्सीन की डोज लगायी गयी है। 2,15,50,317 लोगों को वैक्सीन की पहली डोज तथा 40,22,263 लोगों को दूसरी डोज दी जा चुकी है। अब तक कुल 2,55,72,580 डोजें लगायी गयी हैं। उन्होंने बताया कि कल 21 जून से वैक्सीनेशन को और गति प्रदान करने के लिए क्लस्टर माॅडल ऑफ वैक्सीनेशन का पायलट प्रोजेक्ट प्रारम्भ किया जा रहा है, जिसके तहत एक-तिहाई विकास खण्डों में यह कार्यक्रम संचालित किया जायेगा। गांव में टीकाकरण पंचायत घरों अथवा स्कूलों में किया जायेगा। इस कार्यक्रम के लिए चिकित्सकों की टीम बैकअप के लिए तैयार रखी जायेगी। उन्होंने बताया कि क्लस्टर माॅडल आॅफ वैक्सीनेशन 01 जुलाई से पूरे प्रदेश में चलाया जायेगा। उन्हांेने लोगों से अपील की है कि मास्क का प्रयोग अनिवार्य रूप से करे, सेनेटाइजर व साबुन से हाथ धोते रहे। टीकाकरण के बाद भी कोविड प्रोटोकाॅल का पालन अवश्य करें।