July 30, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

प्रदेश सरकार ने सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से सौर ऊर्जा नीति-2017 प्रख्यापित की

लखनऊ (डीवीएनए)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कल 27 नवम्बर, 2020 को वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से रिन्यूएबल एनर्जी इन्वेस्टर्स मीट एण्ड एक्सपो इन्वेस्ट-2020 (थर्ड आर0ई0 इन्वेस्ट) को सम्बोधित करेंगे। यह कार्यक्रम नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय, भारत सरकार द्वारा आयोजित किया जा रहा है।
ज्ञातव्य है कि प्रदेश सरकार ने सौर ऊर्जा को बढ़ावा देने के उद्देश्य से सौर ऊर्जा नीति-2017 प्रख्यापित की है। इस नीति के अन्तर्गत वर्ष 2022 तक कुल 10,700 मेगावाट क्षमता की सौर विद्युत परियोजनाओं की अधिष्ठापना का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इसमें 6,400 मेगावाट यूटीलिटी स्केल सौर विद्युत परियोजनाओं एव 4,300 मेगावाट रूफटाॅप सोलर पावर प्लाण्ट की स्थापना का लक्ष्य सम्मिलित है।
सौर ऊर्जा परियोजनाओं की स्थापना के लिए इस नीति में विभिन्न प्रोत्साहन भी प्राविधानित किये गये हैं। इसके अन्तर्गत, आॅनलाइन सिंगल विण्डो क्लियरेंस की व्यवस्था, सोलर पावर परियोजनाओं की स्थापना हेतु भूमि पर 100 प्रतिशत स्टाम्प ड्यूटी में छूट, इलेक्ट्रिसिटी ड्यूटी में 10 वर्ष के लिए शत-प्रतिशत छूट, सोलर पावर प्लाण्ट हेतु पर्यावरण क्लियरेंस लिए जाने हेतु छूट दी गयी है। इसके साथ ही, थर्ड पार्टी को पावर सेल अनुमन्य किया गया है।