August 5, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

पंचायत अध्यक्ष चुनाव: जीत का जादुई आंकड़ा भाजपा की मुठ्ठी में!

बांदा-डीवीएनए । जिला पंचायत अध्यक्ष पद के चुनाव का समय नजदीक आ गया हैं और राजनीतिक हल्के में किसके सिर सजेगा अध्यक्ष का ताज को लेकर चर्चा दर चर्चा का माहौल गर्म है।चुनाव की तिथितीन जुलाई है और राजनीति क दलों में दांव-पेंच शुरू है।
अध्यक्ष पद हथियाने की होड़ में संख्या बल बढ़ाने में भाजपा के थिंक टैंक के रूप में मशहूर सदर विधायक धोबीपाट दांव मारकर विपक्षियों को मतदान के दिन ष्दिन में तारेष् दिखाने की रणनीति पर लगातार बैठकों के माध्यम से प्रैक्टिस कर रहें है। डीडीसी सदस्य संख्या पंद्रह के पार पहुंचाने की और गतिवान है। अपना दल और निर्दलीय अभी तक अघोषित रूप से भाजपा के पाले में आ जाना बतया जा रहा है। सपा में बगावत मची है। चर्चा है के उसके चार जिला जिला पंचायत सदस्य भी लगातार भाजपा विधायक प्रकाश दिवेदी के संपर्क में हैं। भाजपा को जीत दिलाने के लिये निवर्तमान जिला पंचायत सदस्य सरिता दिवेदी भी विपक्षियों की रणनीति को भेद उनके दांत खट्टे कर रहीं हैं। भाजपा के विश्वसनीय सूत्रों के अनुसार भाजपा ने आज की तारीख में जीत का आकड़ा 16 को मुठ्ठी में कर लिया है, लेकिन इस जादुई आंकड़े के आगे भी छलांग लगाने की राजनीतिक कोशिश हो रही है। जिले में तीन जुलाई को जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव होना है। हालांकि अभी सपा को छोड़ किसी ने भी दल ने अध्यक्ष प्रत्याशी का नाम घोषित नहीं किया । वैसे भाजपा में सुनील पटेल का नाम सबकुछ ठीक-ठाक रहा तो पक्का माना जा रहा है। सपा ने रजनी यादव का नाम घोषित किया लेकिन उनके नाम में बदलाव होकर कृष्णा पटेल का नाम घोषित हो जाये तो कोई आश्चर्य नहीं होगा!कृष्णा पटेल पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष रह चुकी है।
कुल मिलाकर 11 सदस्यों वाली बसपा की हालत लगातार पतली होती जाना बताया जा रहा है। इस दल के भी कई सदस्य भाजपा की निवर्तमान जिला पंचायत सदस्य सरिता दिवेदी एवं उनके पति सदर विधायक प्रकाश दिवेदी के संपर्क में निरंतर अप्रत्यक्ष रूप से है। राजनीति के चतुर सुजान सदर विधायक प्रकाश दिवेदी की रणनीति का लोहा इससे ही अंदाजा लगाया जा सकता है की चित्रकूट जनपद के जिला पंचायत अध्यक्ष के दावेदार भी वहां के कुछ डीडीसी सदस्यों को पाले में लाने के लिये उनकी मदद ले रहें है।
कुल मिलाकर भाजपा ने जिला पंचायत अध्यक्ष की ताजपोशी की राजनीतिक लड़ाई में अपनी चतुराई से जीत के जादुई आंकड़े को अपनी मुट्ठी में कर लिया है और तीन जुलाई को उनकी बन्द मुठ्ठी खुलने का सबको इंतजार है।
संवाद विनोद मिश्रा