October 25, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

लखनऊ में नौचंदी एक्सप्रेस के दो पहिये पटरी से उतरे, कई ट्रेनें लेट

लखनऊ (डीवीएनए)। प्रयागराज से लखनऊ आ रही नौचंदी एक्सप्रेस बीती रात 10.10 बजे केकेसी पुल के पास डिरेल हो गई। उसके इंजन के दो पहिए पटरी से उतर गए। इससे यात्रियों में अफरा-तफरी मच गई। आनन फानन में रेलवे प्रशासन मौके पर पहुंचा और क्रेन के जरिए इंजन के दोनों पहियों को पटरी पर किया गया। इस वजह से ट्रेन करीब ढाई घंटे देरी से करीब एक बजे लख्रनऊ रेलवे स्टेशन पहुंचकर मेरठ सिटी के लिए रवाना हुई। प्रयागराज से मेरठ सिटी के आने वाली सभी ट्रेनें करीब ढाई घंटे तक प्रभावित रही।
डीरेलमेंट की सूचना मिलते ही चारबाग रेलवे स्टेशन प्रशासन अलर्ट हो गया और स्टेशन डायरेक्टर सुदीप सिंह के नेतृत्व में रेलवे की टीम मौके पर पहुंच गई। इसके बाद इंजन को वापस पटरी पर लाने का काम किया गया।
गनीमत रही ट्रेन की स्पीड रही कम
गाड़ी संख्या 04511 प्रयागघाट संगम से मेरठ सिटी को जाने वाली नौचंदी एक्सप्रेस बुधवार रात 10.10 बजे दिलकुशा से चारबाग रेलवे स्टेशन की ओर बढ़ रही थी। इस दौरान ट्रेन की स्पीड कम थी। केकेसी पुल के पास पहुंचने पर ट्रेन के इंजन के दो पहिए डीरेल हो गए। इससे तेज आवाज हुई और ट्रेन में जोर का झटका लगा। बोगी में बैठे कई यात्री अपनी सीट से नीचे गिर गए। हालांकि, यात्री सुरक्षित बताए जा रहे हैं। कुछ लोगों को हल्की चोटें आई हैं।
क्या पटरी में कोई कमी तो नहीं थी, होगी जांच
नौचंदी एक्सप्रेस के इंजन के दो पहिए कैसे उतरे इसकी जांच होगी। रेलवे प्रशासन ने बताया कि जांच में यह देखा जाएगा कि किसकी गलती है। क्या ट्रैक में तो कोई खराबी तो नहीं थी। क्या कोई साजिश तो नहीं है इसके पीछे। क्या पटरी में कोई कमी तो नहीं थी। फिलहाल डीरेलमेंट की वजह की जांच में इन्हीं बिंदुओं को टटोला जाएगा।
तेज झटका और ट्रेन रुक गई
नौचंदी एक्सप्रेस के इंजन के दो पहिए पटरी से उतरने के बाद ट्रेन करीब ढाई घंटे तक उसी जगह पर खड़ी रही। इससे यात्रियों को काफी परेशानी झेलनी पड़ी। लखनऊ के लिए प्रयागराज से निकले राम प्रवेश ने बताया कि ट्रेन की स्पीड मुश्किल से 15 से 20 किलोमीटर की रही होगी। इतने में केकेसी पुल के पास तेज आवाज हुई और जोर से झटका लगा और ट्रेन रुक गई।
जोरदार झटके और आवाज से लोग सहम से गए। कई यात्रियों को हल्की चोट भी आई। जब काफी देर से ट्रेन नहीं चली तो लोग उतरकर कारण जानना चाहे तो पता चला कि इंजन के दो पहिए उतर गए हैं। लोग यही कह रहे थे कि गनीमत रही ट्रेन की स्पीड कम थी वरना आज पता नहीं क्या होता।
डीआरएम बोले-जांच कराई जाएगी
नार्दन रेलवे के डीआरएम संजय त्रिपाठी का कहना है कि ट्रेन के डीरेल होने के मामले की जांच कराई जाएगी। इलेक्ट्रॉनिक और सुरक्षा शाखा की टीम इस पूरे मामले की जांच करेगी आखिर कैसे ये ट्रेन पटरी से उतर गई।