August 5, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

मरीजों के इलाज में किसी तरह की असुविधा नहीं होनी चाहिए: योगी

मुख्यमंत्री ने जनपद गोरखपुर में अपने गोद लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र जंगल कौड़िया का निरीक्षण किया

सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की रंगाई-पुताई, साफ-सफाई करवाने के निर्देश, इस केन्द्र के लिए एक्स-रे मशीन तथा अन्य चिकित्सकीय उपकरणों की व्यवस्था शीघ्र सुनिश्चित की जाए

मरीजों के इलाज में किसी तरह की असुविधा नहीं होनी चाहिए

नियमित रूप से ओ0पी0डी0 का संचालन किया जाए, साथ ही, चिकित्सक नियमित रूप से यहां रात्रि प्रवास भी करें

सी0एच0सी0 जंगल कौड़िया में कोविड वैक्सीनेशन सेण्टर का अवलोकन किया, वैक्सीनेशन कराने आये लोगों से वार्ता कर उनकी कुशलक्षेम पूछी

लखनऊ (DVNA)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज जनपद गोरखपुर में अपने गोद लिए सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र (सी0एच0सी0) जंगल कौड़िया का निरीक्षण किया। उन्होंने सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की व्यवस्थाओं का विस्तार से मुआयना किया तथा स्वास्थ्य केन्द्र की रंगाई-पुताई, साफ-सफाई करवाने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस सी0एच0सी0 के लिए एक्स-रे मशीन तथा अन्य चिकित्सकीय उपकरणों की व्यवस्था शीघ्र सुनिश्चित की जाए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि मरीजों के इलाज में किसी तरह की असुविधा नहीं होनी चाहिए। उन्हें बेहतर इलाज प्रदान किया जाये तथा नियमित रूप से ओ0पी0डी0 का संचालन किया जाए। साथ ही, चिकित्सक नियमित रूप से यहां रात्रि प्रवास भी करें। उन्होंने निरीक्षण के दौरान तैनात चिकित्सकों, लेबर रूम एवं अन्य व्यवस्थाओं के बारे में विस्तारपूर्वक जानकारी प्राप्त की।
मुख्यमंत्री ने सी0एच0सी0 जंगल कौड़िया में कोविड वैक्सीनेशन सेण्टर का अवलोकन किया तथा वैक्सीनेशन कराने आये लोगों से वार्ता कर उनकी कुशलक्षेम पूछी। इस क्रम में लोगों ने कहा कि उन्हें टीकाकरण में किसी तरह की कोई परेशानी नहीं हुई। अस्पताल में दो वैक्सीनेशन सेण्टर स्थापित किये गये है, जिसमें एक में 18 वर्ष से ऊपर तथा दूसरे सेण्टर में 45 वर्ष से ऊपर के लोगों का निःशुल्क वैक्सीनेशन हो रहा है।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री को अवगत कराया गया कि शीघ्र ही यहां मिनी पीकू संचालित किया जाएगा। अस्पताल में 30 बेड की व्यवस्था है। जल्द ही यहां इमरजेंसी सेवा भी प्रारम्भ होगी। ओ0पी0डी0 का संचालन किया जा रहा है। अस्पताल में एम0ओ0आई0सी0 सहित कुल 12 स्टाफ की तैनाती है।
निरीक्षण के दौरान जनप्रतिनिधिगण एवं जिला प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारीगण उपस्थित थे।