May 17, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

ओरल एवं मैक्सिलोफेशियल सर्जरी क्या है, जानिए टॉपर डॉ. आंचल मेहरा से

मुरादाबाद। मंडल की पहली महिला ओरल एवं मैक्सिलोफेशियल सर्जन डॉ. आंचल मेहरा हैं जो महानगर की हैं और टॉप रही हैंं। कोर्ट रोड पर गुरहट्टी चौराहा स्थित बिजनेसमैन पिता विजय मेहरा की बेटी डॉ. आंचल मेहरा ने कोठीवाल डेंटल कॉलेज, मुरादाबाद से बीडीएस एवं एमडीएस ओरल एवं मैक्सिलोफेशियल सर्जरी में येनेपोया डेंटल कॉलेज मेंगलोर, कर्नाटक से टॉप किया है। वह बताती हैं कि गले, मुंह, चेहरे की संरचना में आने वाली किसी भी परेशानी को ठीक करने के लिए की जाने वाली सर्जरी को ओरल एवं मैक्सिलोफेशियल सर्जरी कहते हैं। इसकी मदद से जबड़ों, मुंह, चेहरे या फिर होंठों के किसी भी विकार, हड्डी के अंदर विजडम टीथ की सर्जरी तथा मुंह के कैंसर का प्रशिक्षण एवं इलाज किया जा सकता है।

डॉ. आंचल की मां गृहणी हैं और पिता कारोबारी, ऐसे में चिकित्सा के क्षेत्र को अपनाने वाली डॉ. मेहरा बताती हैं कि हमेशा उनके परिवार का सहयोग उनके साथ रहा। वह ऑर्थोगनेथिक सर्जरी (जॉ स्कल्प्टिंग) में फ़ेलोशिप को लेकर अग्रसर हैं। जिससे चेहरे की विकृति की सर्जरी, जबड़े की सर्जरी, टेढी नाक की सर्जरी इत्यादि कर सकते हैं।

मैक्सिलोफेशियल सर्जन क्या है?
ओरल और मैक्सिलोफेशियल सर्जरी (ओएमएस या ओएमएफएस) सिर, गर्दन, चेहरे, जबड़े और मौखिक (मुंह) और मैक्सिलोफेशियल (जबड़े और चेहरे) क्षेत्र के कठिन और मुलायम ऊतकों में कई बीमारियों, चोटों और दोषों के इलाज में माहिर हैं। यह एक अंतरराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता प्राप्त सर्जिकल विशेषता है।

मैक्सिलोफेशियल सर्जन एक दंत चिकित्सक है, जिन्होंने मौखिक और मैक्सिलोफेशियल सर्जरी में 3 वर्ष की रेजिडेंसी पूरी कर ली है। एक रेजीडेंसी अतिरिक्त प्रशिक्षण को संदर्भित करता है। मैक्सिलोफेशियल या मौखिक सर्जन कार्यालय सेटिंग के अलावा, सर्जिकल सेंटर, ट्रॉमा सेंटर, अस्पतालों और आउट पेशेंट सेटिंग्स में रोगियों का इलाज कर सकते हैं।

आमतौर पर मौखिक और मैक्सिलोफैशियल सर्जन संज्ञाहरण या अंत: शिरा बेहोश करने की क्रिया का उपयोग करते हुए प्रभावित और रोगग्रस्त दांतों, जबड़े, मुंह एवं चेहरे की गांठों,ट्यूमर, टेढ़े मुंह को ठीक करना, मुंह के कैंसर को हटाने में कुशल है। इसके अलावा मौखिक सर्जन उन रोगियों का उपचार करते हैं जिन्हें सड़क दुर्घटना के दौरान चेहरे की चोटें/जबड़े और चेहरे की हड्डी में फै्रक्चर होते हैं। अक्सर मौखिक सर्जन को ट्यूमर या मौखिक गुहा और चेहरे के अल्सर वाले रोगियों के इलाज के लिए बुलाया जाता है। मुंह के लार ग्रंथियों और जबड़े की असामान्य विकृति तथा संक्रमण का इलाज भी मौखिक सर्जन द्वारा किया जा सकता है।