April 21, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

सब्जी विक्रेता का बेटा अब है SDO, होली पर गुरु को दी 1 रूपया गुरु दक्षिणा

पटना। सब्जी विक्रेता का बेटा SDO बनने के बाद होली के दिन अपने गुरु के घर उनसे मिलने पहुंचा। उसने गुरु को 1 रूपया गुरु दक्षिणा दी।

बिहार राज्य के रोहतास जिले के बिक्रमगंज के श्रीराम की स्टोरी काफी प्रेरणा दायक है। जी हां, आपको जानकर हैरानी होगी कि कैसे हिन्दी मीडियम के सरकारी स्कूल में पढ़ने वाला सब्जी विक्रेता का बेटा SDO बन गया है।

श्रीराम के पिता का नाम संजय गुप्ता है जो काराकाट लोकसभा क्षेत्र के गाँव मोथा के रहने वाले है। बिक्रमगंज में किराये के मकान में रहकर अपना जीवनयापन करते थे। बिक्रमगंज के सब्जी मंडी में सब्जी बेचकर बेटे को पढ़ाया और इंजीनियर बनाया। श्रीराम की सफलता में उसके मेहनत के साथ उनके माता-पिता और गुरु आरके श्रीवास्तव का बहुत बड़ा योगदान है।

उन दिनों श्रीराम की पारिवारिक स्थिति उतनी बेहतर नहीं थी। गुरु आरके श्रीवास्तव ने श्रीराम के पढ़ाई में उसे काफी सपोर्ट किया और अपने सानिध्य में 4 वर्ष नि:शुल्क पढ़ाया, जब तक वह इंजीनियर नहीं बन गया। परन्तु समय बदला, परिस्थितियां बदली और आज श्रीराम इंजीनियर बन सरकारी इलेक्ट्रिक विभाग में SDO के पद पर कार्यरत हैं।

SDO बनने से पहले श्रीराम कई नौकरी छोड़ चुके हैं। इससे पहले भारत सरकार के ECIL विभाग में ऑफिसर थे। श्रीराम की बचपन से पढ़ाई सरकारी स्कूल में हिन्दी मीडियम से हुआ।

उसने RDS हाई स्कूल धनगाई से 10वीं की परीक्षा पास किया, उसके बाद AS कॉलेज बिक्रमगंज से 12वीं और वर्ष 2013 में बिहार इंजीनियरिंग की प्रवेश परीक्षा में सफलता पाया। सरकारी कॉलेज भागलपुर से इलेक्ट्रिकल ब्रांच से पढ़कर इंजीनियर बना।