August 5, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

आईसीयू के बेडों की संख्या आवश्यकतानुसार बढ़ाई जाए: CM योगी

लखनऊ। डीवीएनए

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कोविड-19 की वर्तमान स्थिति के परिप्रेक्ष्य में आई0सी0यू0 के बेडों की संख्या आवश्यकतानुसार बढ़ाई जाए। उन्होंने प्रदेश में अब तक कोविड-19 के 02 करोड़ टेस्ट होने पर संतोष व्यक्त करते हुए कहा कि इस संक्रमण के खिलाफ लगातार सतर्कता बरती जाए। पब्लिक एड्रेस सिस्टम के माध्यम से लोगों को कोविड-19 के प्रति जागरूक किया जाए। लोगों को सोशल डिस्टेंसिंग के साथ-साथ मास्क पहनने और समय-समय पर हैण्ड वाॅशिंग के लिये प्रेरित किया जाए।
मुख्यमंत्री आज यहां अपने सरकारी आवास पर आहूत एक उच्चस्तरीय बैठक में अनलाॅक व्यवस्था की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोविड-19 से संक्रमित मरीजों के उपचार की बेहतर व्यवस्था प्रत्येक दशा में सुनिश्चित की जाए। इसमें किसी भी स्तर पर शिथिलता नहीं बरती जानी चाहिए। यह सुनिश्चित किया जाए कि मरीजों की भर्ती में कोई समस्या न पेश आए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड-19 के संक्रमण से बचाव के लिये हर स्तर पर सतर्कता बरती जाए। इन्टीग्रेटेड कमाण्ड एण्ड कन्ट्रोल सेन्टर का संचालन पूरी सक्रियता से किया जाए। उन्होंने काॅन्टैक्ट ट्रेसिंग तथा सर्विलांस सिस्टम को सुदृढ़ बनाए रखने के निर्देश भी दिए। ज्ञातव्य है कि अब तक प्रदेश के 14 करोड़ लोगों सेे सर्विलांस के माध्यम से सम्पर्क किया गया और उनकी फोकस टेस्टिंग की गई। इससे कोरोना के प्रसार पर नियंत्रण करने में मदद मिली है।
बैठक के दौरान मुख्यमंत्री जी एवं उपस्थित अधिकारीगण ने दिवंगत आई0ए0एस0 अधिकारी अजय सिंह के प्रति दो मिनट का मौन रखकर अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की और शोक संतप्त परिजनों के प्रति अपनी संवेदना भी व्यक्त की।
बैठक में मुख्य सचिव आर0के0 तिवारी, औद्योगिक एवं अवस्थापना आयुक्त श्री आलोक टण्डन, कृषि उत्पादन आयुक्त आलोक सिन्हा, अपर मुख्य सचिव गृह श्री अवनीश कुमार अवस्थी, पुलिस महानिदेशक हितेश सी0 अवस्थी, अपर मुख्य सचिव एम0एस0एम0ई0 तथा सूचना नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद, अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा डाॅ0 रजनीश दुबे, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री एस0पी0 गोयल, अपर मुख्य सचिव कृषि देवेश चतुर्वेदी, प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना संजय प्रसाद, प्रमुख सचिव पशुपालन भुवनेश कुमार, सचिव मुख्यमंत्री आलोक कुमार, सूचना निदेशक शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।