May 17, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

किसानों का अनोखा समर्थन, बारात में ट्रैक्टर चलाकर दुल्हन को लेने पहुंचा दूल्हा

काशीपुर डीवीएनए। भले ही आपने किसानों के अनेकों प्रदर्शन देखें होंगे लेकिन उधम सिंह नगर में किसान के प्रदर्शन का एक ऐसा रूप सामने आया जो कि चर्चा का विषय बन गया। प्रदर्शन भी ऐसा की किसानों के आंदोलन को समर्पित एक दूल्हा अपनी दुल्हन को ट्रैक्टर पर ही लेने आ गया। देशभर में चल रहे किसान आंदोलन के आपने कई रूप देखे होंगे लेकिन आज जो किसान आंदोलन का एक रूप हम दिखाने जा रहे हैं वह आपने शायद ही कहीं देखा हो। ट्रैक्टर पर बारात लाया दूल्हा मीडिया की सुर्खियां बन गया।

फूलों से सजा ट्रैक्टर, स्टीयरिंग थामे हुये दूल्हा और बगल में बैठी सजी-धजी दुल्हन। पीछे किसान आंदोलन के समर्थन में झंडे लेकर चलते बाराती और शगुन गीतों के साथ किसानों की कामयाबी की दुआएं करतीं महिलाएं। ये नजारा किसानों के समर्थन में निकली किसी रैली का नहीं, बल्कि काशीपुर के सिवलजीत सिंह और बाजपुर की संदीप कोर की बारात का है।

जहां नवदंपति ने अपने जीवन के अनमोल पल को किसान आंदोलन को समर्पित कर यादगार बना दिया। बता दे की बाजपुर के ग्राम केशवालाा निवासी तरसेम सिंह ने अपनी बेटी का संदीप कौर का विवाह काशीपुर के टांडा दभौरा निवासी सिवलजीत सिंह से तय की थी। बारात काशीपुर से बाजपुर पहुंची तो रास्ते में लोग अनोखी बारात को देख एक पल को चौंक गये।

जहां दूल्हा सिवलजीत सिंह खुद ट्रैक्टर चलाते अपनी बारात लेकर पहुंच गया और पीछे बाराती किसान आंदोलन के समर्थन में झंडे हाथ में लिये थे। विवाह रस्में निभाने के बाद बारात विदा हुयी तो सिवलजीत ने फिर ट्रैक्टर की स्टीयरिंग थाम लिया और दुल्हन संदीप कौर उनके बगल में बैठ गई। इस दौरान दोनों ने एक बार फिर किसान आंदोलन के प्रति अपना समर्थन जताया और काशीपुर के लिये निकल गये।

दूल्हा सिवलजीत सिंह ने बताया कि वह गाजीपुर बॉर्डर पर बीते कई दिनों से किसान आंदोलन में भाग ले रहे है। उन्होंने कहा कि सरकार लंबे समय से किसानों की सुध नही ले रही है। जिसको लेकर वह ट्रैक्टर पर बारात लेकर आये है। जिससे सरकार जागे ओर कृषि कानून वापस ले।

ट्रैक्टर पर आई बारात क्षेत्र में भी चर्चा का विषय बनी रही। ट्रेक्टर पर आई बारात से दुल्हन भी काफी खुश दिखी दी।

दुल्हन संदीप कोर ने कहा कि वह किसान की बेटी है और किसान आंदोलन से बहुत आहत है। उन्होंने कहा कि वह किसानों के दर्द को महसूस कर रही है। साथ ही उन्होंने कहा कि वह भी अपने पति के साथ किसान आंदोलन में भाग लेंगी।
संवाद अज़हर मलिक