May 16, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

मुख्यमंत्री ने 1 अप्रैल से ई-पॉप मशीनों से गेहूं खरीद किए जाने की व्यवस्था करने का दिया निर्देश

लखनऊ (डीवीएनए)। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रस्तावित आगामी 01 अप्रैल, 2021 से न्यूनतम समर्थन मूल्य पर किसानों से इलेक्ट्रॉनिक प्वाइण्ट ऑफ परचेज (ई-पॉप) मशीनों के माध्यम से गेहूं खरीद किए जाने की व्यवस्था करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार की विभिन्न क्रय एजेन्सियों द्वारा प्रदेश के सभी जनपदों में 6,000 गेहूं क्रय केन्द्र खोले जाने प्रस्तावित हैं। किसानों से सीधे राज्य सरकार की पहुंच को सुनिश्चित करने के लिए गेहूं क्रय केन्द्रों पर ‘ई-पॉप’ मशीन के माध्यम से गेहूं खरीद की व्यवस्था निर्धारित टाइम लाइन के अनुसार की जाए। उन्होंने ‘ई-पॉप’ मशीनों के प्रयोग और खरीद प्रक्रिया के सम्बन्ध में आवश्यक प्रशिक्षण की भी व्यवस्था सुनिश्चित किए जाने के निर्देश दिए।
मुख्यमंत्री के समक्ष आज यहां अपने सरकारी आवास पर न्यूनतम समर्थन मूल्य योजना के तहत बायोमीट्रिक सत्यापन द्वारा गेहूंध्धान खरीद हेतु ‘ई-पॉप’ मशीन की कार्यप्रणाली और व्यवस्था के सम्बन्ध में प्रस्तुतीकरण किया गया। उन्होंने कहा कि वर्तमान में सम्पूर्ण प्रदेश में इलेक्ट्रॉनिक प्वाइण्ट ऑफ सेल (ई-पॉस) के माध्यम से लाभार्थियों को खाद्यान्न का वितरण सफलतापूर्वक किया जा रहा है। इसी प्रकार, इलेक्ट्रॉनिक प्वाइण्ट ऑफ परचेज ‘ई-पॉप’ मशीन के माध्यम से आगामी खरीद वर्ष से गेहूंध्धान खरीद सुनिश्चित किए जाने की व्यवस्था की जाए।
मुख्यमंत्री ने कहा कि ‘ई-पॉप’ मशीन से खरीद की व्यवस्था इस प्रकार बनायी जाए कि किसानों को किसी भी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़े। गेहूं क्रय केन्द्रों पर ‘ई-पॉप’ मशीन के माध्यम से खरीद प्रक्रिया लागू होने से वास्तविक किसानों को न्यूनतम समर्थन मूल्य योजना का सीधा लाभ प्राप्त होगा। पारदर्शी व उत्तरदायी व्यवस्था सुनिश्चित होगी, रियल टाइम डाटा कैप्चर किया जा सकेगा। साथ ही, बिचैलियों तथा अनधिकृत व्यक्तियों की भूमिका पर अंकुश लगेगा।
प्रमुख सचिव खाद्य एवं रसद श्रीमती वीना कुमारी मीना ने मुख्यमंत्री जी को बताया कि ‘ई-पॉप’ मशीन के माध्यम से आगामी 01 अप्रैल, 2021 से प्रस्तावित गेहूं खरीद की कार्यवाही तेजी से सुनिश्चित की जा रही है। गेहूं व धान के विक्रय के समय किसान अथवा उसके द्वारा नामित परिवार के सदस्य का बायोमीट्रिक सत्यापन किया जाएगा। ‘ई-पॉप’ मशीन द्वारा खरीद की प्रिण्टेड रसीद निर्गत होगी, जो कृषक को प्राप्त करायी जाएगी।
इस अवसर पर प्रमुख सचिव मुख्यमंत्री एवं सूचना संजय प्रसाद, सचिव मुख्यमंत्री आलोक कुमार, निदेशक सूचना शिशिर सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।