June 20, 2021

DVNA

Digital Varta News Agency

योग्य दंपत्ति अपना रहे हैं परिवार नियोजन के साधन

कासगंज (डीवीएनए)। कोरोना काल में बच्चों के जन्म में अंतर तराल रखने के लिए परिवार नियोजन के साधन अपनाने पर पूरा जोर दिया जा रहा है। इसके तहत स्वास्थ्य विभाग ने सभी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर पर परिवार नियोजन के साधन उपलब्ध कराए है। योग्य दंपत्ति परिवार नियोजन के साधनों को अपना भी रहे हैं।
बढ़ती जनसंख्या रोकने के लिए व बच्चों मे अंतराल रखने के लिए सीएचसी कासगंज, सोरों, सहावर,पटियाली, गंजडुंडवारा सिढ़पुरा, अमापुर समेत सभी स्वास्थ्य केंद्रों परिवार नियोजन के साधन उपलब्ध करा दिए गए है। गर्भ निरोधक गोली छाया व अंतरा इंजेक्शन परिवार नियोजन के अस्थायी की सुविधा सीएचसी व पीएचसी पर है।
अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी व परिवार नियोजन के नोडल डा.नरेंद्र ने बताया कि ओपीडी करने के साथ ही योग्य दम्पत्ति को परिवार नियोजन के अस्थायी साधन की सुविधा भी प्रदान की जा रही है। इस बीच 2185 पीआई सीयूडी, 539 अंतरा इंजेक्शन व 188 महिला व तीन पुरुष नसबंदी भी की गई।
फैमिली प्लानिंग स्पेशलिस्ट राज तोमर ने बताया कि सीएचसी पर परिवार नियोजन की सेवा शुरू कराई जा चुकी है। इस सुविधा का चलने के बाद योग्य दंपत्ति जो अस्थायी परिवार नियोजन के साधन अपनाना चाहते हैं। एएनएम द्वारा अब सीएचसी पर आ सकते है। अभी कई दम्पति ने परिवार नियोजन के साधन अपनाए हैं।
अंतरा-
-अंतरा त्रैमासिक एक गर्भनिरोधक इंजेक्शन है । जिसकी पहली डोज डॉक्टर की देखरेख में महिला का स्वास्थ्य परीक्षण करने के बाद ही लगायी जाती है। उसके बाद दूसरी डोज प्रशिक्षित स्टॉफ नर्स या एएनएम के द्वारा लगाई जाती है, जो की महिलाओं को तीन माह के अंतर पर मासिक धर्म आने के सात दिन के अंदर बिना किसी जांच के दिया जाता है।
छाया-
-छाया गोली यह एक साप्तहिक नान हार्मोनल गर्भनिरोधक गोली है। यह प्रसव या गर्भपात के तुरंत बाद प्रारंभ की जा सकती है।
माला –
माला गोली रोजाना ली जाती है। प्रसव के बाद शुरू करते हैं ।
पीआईयूसीडी
-नार्मल डिलीवरी में प्लेसेंटा बाहर आने के 10 मिनट के भीतर या 48घंटों के अंदर ऑपरेशन के दौरान लगाते हैं। प्रसव के छह हफ्तों बाद गर्भपात के तुरंत बाद अगर संक्रामक न हो तो माहवारी शुरू होने पर पहले दिन से 12 दिन के भीतर कभी भी दे सकते है।
संवाद , नूरुल इस्लाम