January 21, 2022

DVNA

Digital Varta News Agency

कमिश्नर भवन: हुजूर बनते-बनते बहुत देर कर दी

बांदा (डीवीएनए)। इंतजार की घड़ियों बहुत मीठी होती है, पर कमिश्नरी भवन निर्माण ने दो दशकों से भी ज्यादा लंबे अंतराल का प्रतीक्षा करवाया। अब इस लंबे इंतजार के बाद चित्रकूटधाम मंडल कमिश्नरी को इस वर्ष मार्च माह में अपना नया भवन उपलब्ध होगा।भवन प्रवेश की प्रक्रिया पूरी होगी। यह बनकर तैयार हो चुका है।
वर्ष 1998 में मंडल सृजन के बाद वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर मंडलायुक्त का कार्यालय कृषि विभाग के परिसर में स्थित भवन में चल रहा है। मंडलायुक्त आवास भी पूर्व में सिंचाई विभाग का रहा है। लगभग 22 वर्षों के बाद कमिश्नरी कार्यालय बना है।
भवन बनने की शुरुआत वर्ष 2016 में हुई थी। उत्तर प्रदेश राज्य निर्माण सहकारी संघ ने निर्माण कराया है। परियोजना की स्वीकृत लागत 599.20 लाख थी, लेकिन बाद में यह बढ़कर 8 करोड़ 54 लाख 61 हजार हो गई। नए भवन को 31 मार्च तक हस्तांतरित कर दिया जाएगा।
सीडीओ हरिश्चंद्र वर्मा ने बताया कि मुख्य भवन, गेस्ट हाउस, ओएचटी आदि का काम पूरा हो गया है। पेंटिंग भी हो गई है। नए कार्यालय भवन में महज पंप हाउस का निर्माण शेष रह गया है यह भी मार्च तक पूरा हो जाएगा।
संवाद विनोद मिश्रा